रायपुर। जूनियर डाक्टरों की अनिश्चितकालीन हड़ताल पांचवें दिन भी जारी रही। पहले से मानव संसाधन की समस्या से जूझ रहे आंबेडकर अस्पताल में इलाज प्रभावित होने से मरीज बेहाल रहे। जूनियर डाक्टर मांग पूरी न होने तक हड़ताल पर डटे रहने की बात कह रहे हैं।

चिकित्सा शिक्षा विभाग के संचालक ने नाराजगी जताई

चिकित्सा शिक्षा विभाग के संचालक डा. विष्णु दत्त ने नाराजगी जताई है। उन्होंने कहा कि शिष्यवृत्ति बढ़ाने की मांग को लेकर जूनियर डाक्टर स्वास्थ्य मंत्री से मिले। मंत्री ने मांग के संबंध में कार्यवाही का आश्वासन दिया, इसे लेकर मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य सचिव को पत्र लिखा है। सभी ने हड़ताल को खत्म करने की बात कही। शिष्यवृत्ति बढ़ाने की मांग नीतिगत फैसला है, यह एकाएक पूरी नहीं हो सकती। जूनियर डाक्टर हठ करने के बजाय प्रशासनिक प्रक्रियाओं को समझें। अस्पताल की व्यवस्थाओं के साथ खिलवाड़ करने का कोई हक नहीं है। मांग को पूरा करने के लिए कार्यवाही की जा रही है। यदि हड़ताल खत्म नहीं करते हैं तो प्रशासनिक कार्रवाई की जाएगी। दूसरी ओर मांग को लेकर चर्चा के लिए जूनियर डाक्टरों ने स्वास्थ्य सचिव प्रसन्ना आर से मिलने का समय मांगा है।

जनता की जान से खेल रहे : डा. कृष्णमूर्ति

पूर्व स्वास्थ्य मंत्री और भाजपा प्रदेश प्रवक्ता डा. कृष्णमूर्ति बांधी ने कहा कि राज्य के जूनियर डाक्टरों की हड़ताल से स्वास्थ्य व्यवस्था चरमरा गई है और मरीजों की जान पर संकट खड़ा हो गया है। हड़ताल से प्रदेश के गरीब मरीजों को इलाज नहीं मिल पा रहा है। 2019 से जूनियर डाक्टरों का मानदेय नहीं बढ़ा है। एक लाख करोड़ का भारी-भरकम बजट पेश करने का दावा करने वाली राज्य सरकार की आर्थिक बदहाली की पोल फिर खुल गई है। चार साल में 60 हजार करोड़ का कर्ज लेने वाली भूपेश सरकार सिर्फ 60 करोड़ के लिए छत्तीसगढ़ के गरीबों की जान की दुश्मन बन गई है। स्वास्थ्य मंत्री जूनियर डाक्टरों की जायज मांग को फौरन पूरी करें या पद छोड़ दें।

जूनियर डाक्टर एसोसिएशन के अध्यक्ष डा. प्रेम चौधरी ने कहा, मांग हमारी जायज है। स्वास्थ्य मंत्री ने पूरा कराने के लिए मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य सचिव को पत्र लिखा है। लेकिन कब तक करेंगे यह नहीं बता रहे हैं। ठोस पहल हो तो हम प्रदर्शन बंद कर देंगे।

वर्तमान में जूनियर डाक्टरों को मिल रही शिष्यवृत्ति

चिकित्सक - वर्तमान - मांग

इंटर्न - 12,000 - 23,872

स्नातकोत्तर प्रथम वर्ष - 53,000 - 95,488

स्नातकोत्तर द्वितीय वर्ष - 56,000 - 98382

स्नातकोत्तर तृतीय वर्ष - 59,000 - 1,01,274

बांड वाले चिकित्सक - 55,000 - 1,14,552

मांग पूरी हुई तो इतनी बढ़ेगी शिष्यवृत्ति

चिकित्सक - बढ़ोतरी राशि

इंटर्न - 11,872

स्नातकोत्तर प्रथम वर्ष - 42,488

स्नातकोत्तर द्वितीय वर्ष - 42,382

स्नातकोत्तर तृतीय वर्ष - 42,274

बांड वाले चिकित्सक - 59,552

Posted By: Ashish Kumar Gupta

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close