रायपुर। सुकमा जिले के चिंतागुफा गांव में जवानों पर एक नाबालिग लड़की से दुष्कर्म का आरोप लगा है। गांव के कुछ लोगों ने नईदुनिया को फोन कर घटना की जानकारी दी और मदद की गुहार लगाई है। हालांकि पुलिस का कहना है कि यह फोर्स को बदनाम करने की नक्सली साजिश है।

शिकायत के अनुसार चिंतागुफा में तैनात फोर्स शनिवार-रविवार की दरम्यानी रात गांव की गश्त पर निकली थी। रविवार सुबह 4 बजे जवान एक घर में घुस गए और 14 साल की एक लड़की को उठा लिया। गश्त पर निकले जवान लोकल पुलिस के थे या केंद्रीय बल के, यह ग्रामीण नहीं बता पा रहे हैं।

ग्रामीणों के मुताबिक जवानों ने लड़की के चारों ओर घेरा बना लिया और उससे दुष्कर्म किया। घटना के वक्त नाबालिग का पिता घर में नहीं था। उसका बड़ा भाई अन्य ग्रामीणों के साथ पहले से ही आंध्रप्रदेश गया हुआ है। जब लड़की चीखी तो उसकी मां और भाभी उसे बचाने आगे आईं। जवानों ने उन्हें मारपीट कर भगा दिया। घर में मौजूद बच्चों से भी मारपीट की गई। शोर सुनकर पड़ोसी निकले तो उन्हें भी बेरहमी से पीटा गया।

चिंतागुफा की आबादी करीब 15 सौ की है। भेज्जी में नक्सल वारदात के बाद आसपास के गांवों में पुलिस आदिवासियों को पीटने लगी तो गांव खाली हो गया। वर्तमान में गांव में महिलाएं बच्चे और बुजुर्ग ही बचे हैं। जिस लड़की से रेप हुआ है उसकी हालत गंभीर बनी हुई है लेकिन पुलिस के डर से ग्रामीण उसे अस्पताल नहीं ले जा रहे हैं।

दिल्ली से डीयू की प्रोफेसर नंदिनी सुंदर ने सोशल मीडिया पर पत्रकारों से मामले की जांच में मदद की गुहार लगाई है। सुकमा में सीपीआई के नेता मनीष कुंजाम को भी ग्रामीणों ने घटना की जानकारी दी है। मनीष ने नईदुनिया से कहा इस मामले की जांच के लिए मंगलवार को पार्टी की महिला कार्यकर्ताओं का दल रवाना किया जाएगा।

सीएम उसी इलाके में हैं

सुराज अभियान पर निकले मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह उसी इलाके में हैं। चिंतागुफा गांव दोरनापाल से करीब 35 किलोमीटर दूर स्थित है। चिंतागुफा में थाना और सीआरपीएफ की पोस्ट है। यह इलाका घोर नक्सल प्रभावित है। दोरनापाल से चिंतागुफा होकर जगरगुंडा तक जाने वाली 52 किमी सड़क पर कई बड़ी नक्सल घटनाएं हो चुकी हैं। ताड़मेटला में 76 जवानों की हत्या भी इसी इलाके में हुई थी।

इनका कहना है

फोर्स को बदनाम करने के लिए इस तरह के आरोप पहले भी लगाए जाते रहे हैं। आरोप निराधार हैं।

-सुंदरराज पी, प्रभारी आईजी बस्तर

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस