रायपुर। दिल शरीर का सबसे महत्वपूर्ण और नाजुक अंग है। सेहतमंद जिंदगी के लिए इसकी सावधानी से देखभाल जरूरी है। हृदय रोगों की पहचान और समय पर इसके निदान को लेकर खुद जागरूक रहना तथा दूसरों को भी जागरूक करना जरूरी है। नियमित व्यायाम और योग के माध्यम से तनावमुक्त होकर दिल का ख्याल रखा जा सकता है।

गैर संचारी रोग नियंत्रण कार्यक्रम के राज्य नोडल अधिकारी डा. महेंद्र सिंह ने बताया कि दिल की बीमारी किसी भी उम्र में किसी को भी हो सकती है, इसके लिए कोई उम्र सीमा नहीं है। ज्यादातर ह्रदय रोग का प्रमुख कारण तनाव होता है। मधुमेह और उधा रक्तचाप जैसी बीमारी भी हृदय रोगों को जन्म देती है। आज की भागदौड़ भरी जिंदगी, अनियमित और असंतुलित खानपान व जीवन शैली के कारण हृदय रोग की संभावना बढ़ गई है। इसके बावजूद लोग इस बीमारी के जोखिमों को नजरअंदाज कर देते हैं।

डा. महेंद्र सिंह ने बताया कि स्वस्थ हृदय के लिए हमें सकारात्मक दृष्टिकोण के साथ दिनचर्या की शुरूआत करना चाहिए। जहां तक संभव हो मानसिक तनाव से दूर रहना चाहिए। नियमित रूप से संतुलित भोजन, व्यायाम और योग को अपनी जीवन शैली में शामिल कर हम ह्रदय रोग की संभावनाओं को कम कर सकते हैं। भोजन में नमक और वसा की मात्रा कम रखना चाहिए। आहार में ताजे फल और सब्जियों को प्रमुख रूप से शामिल करना चाहिए।

देवेंद्र नगर में मिलेगी निश्शुल्क दवा, मुख्यमंत्री ने किया शुभारंभ

राजधानी के लोग शंकर नगर एक्सप्रेस-वे ब्रिज कीसुंदरीकरण को निहार सकेंगे। इसे मेट्रो सिटी की तरह रूप दिया गया है। यहां की आकर्षक साज-सज्जा लोगों को लुभाएंगी। इसके सुंदरीकरण में 59 लाख 83 हजार रूपये खर्च किए गए हैं। मख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इसका लोकार्पण किया। इसके साथ ही बघेल ने देवेंद्र नगर में निश्शुल्क दवाई दुकान का भी शुभारंभ किया।

छत्तीसगढ़ हाऊसिंग बोर्ड के अध्यक्ष तथा उत्तर विधायक कुलदीप जुनेजा और छत्तीसगढ़ सिख संगठन इस दवा दुकान का संचालन करेगा। इसे 'दवाई का लंगर" नाम दिया गया है। इस दौरान विधायक जुनेजा ने बताया कि यहां विशेषज्ञ चिकित्सकों द्वारा नि:शुल्क चिकित्सकीय परामर्श की सुविधा भी उपलब्ध कराई जाएगी।

Posted By: Ashish Kumar Gupta

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close