रायपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। शहर में चलाए जा रहे मोर सरोवर मोर जिम्मेदारी महाअभियान के तहत निगम क्षेत्र के सभी 10 जोन के तालाबों की सफाई की जा रही है। शहर को राष्ट्रीय स्वच्छता सर्वेक्षण में देश का सबसे स्वच्छ नगर बनाने के लिए आमजनों को जागरूक भी किया जा रहा है। इसी कड़ी में कोटा के नया तालाब को जलकुंभी से मुक्त करने का संकल्प लेकर रहवासी तालाब में उतरे। लोगों ने तीन ट्रैक्टर जलकुंभी तालाब से बाहर निकालकर स्वच्छ सरोवर का संदेश दिया।

महापौर एजाज ढेबर, आयुक्त प्रभात मलिक के आह्वान पर एनजीओ के स्वयंसेवकों, क्षेत्र के निवासियों के साथ निगम के जनप्रतिनिधियों ने तालाबों की सफाई में श्रमदान शुरू कर दिया है। नगरीय नियोजन एवं भवन अनुज्ञा विभाग के अध्यक्ष श्रीकुमार मेनन ने समाजसेवी संस्था लकी टेल्स की अध्यक्ष वंचना और उनकी टीम, वार्ड के नागरिकों के साथ मिलकर कोटा मंगल भवन के पास स्थित नया तालाब की सफाई की। इसमें जोन कमिश्नर अरुण ध्रुव, कार्यपालन अभियंता संजय शर्मा, जोन स्वास्थ्य अधिकारी ईश्वर लाल टावरे, स्वच्छता निरीक्षक आत्मानंद साहू समेत अन्य अधिकारी-कर्मचारियों ने भी श्रमदान किया।

इस अवसर पर एमआइसी सदस्य मेनन ने कहा कि मोर सरोवर मोर जिम्मेदारी महाअभियान से जुड़कर लोगों ने नया तालाब से जलकुंभी निकाली। स्वच्छता के प्रति आमजनों का जागरूक होना बेहद जरूरी है। उन्होंने अपील की कि रायपुर को देश का नंबर वन स्वच्छ नगर बनाने का संकल्प लेकर सरोवरों के सफाई अभियान में सभी बढ़चढ कर भाग लें।

छात्रों ने वितरित किए सकोरे

राष्ट्रीय सेवा योजना दुर्गा महाविद्यालय द्वारा सकोरा वितरण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। राष्ट्रीय सेवा योजना की कार्यक्रम अधिकारी सुनीता चंसोरिया ने बताया कि गर्मी में पक्षियों के लिए दाना-पानी बहुत जरूरी है। पक्षियों के संरक्षण के लिए हमारी यह छोटी-सी कोशिश जरूरी है। लोग जैव विविधता को लेकर जागरूक नहीं हैं। हमें जैव विविधता की महत्ता को समझना होगा।

भूगोल विभाग के सहायक प्राध्यापक डा. जेके होता ने बताया कि दुनिया में जितने भी जीव हैं, वे सब एक-दूसरे से जुड़े हुए हैं, इसलिए जैव विविधता का बने रहना, बचे रहना हमारे अस्तित्व के लिए जरूरी है। इस दौरान विद्यार्थियों ने सकोरे लेकर अपने-अपने घरों में लगाने का संकल्प लिया। मौके पर मधु कुमारी, उपासना, सुनीति, उमा भावना, आलोक, राजेश, गोविंद, लीलावती, सरिता आदि मौजूद थीं।

Posted By: Ashish Kumar Gupta

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close