रायपुर। WFI Controversy: भारतीय कुश्‍ती संघ के अध्‍यक्ष पर लगे यौन शोषण के आरोपों पर अंतरराष्ट्रीय कुश्‍ती खिलाड़ी कृपा शंकर पटेल ने बड़ा बयान दिया है। अंतरराष्ट्रीय कुश्‍ती खिलाड़ी कृपा शंकर पटेल ने कहा कि अगर महिलाओं के साथ शोषण जैसी बात आ रही है तो मैं उनके साथ हूं। और ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई भी होनी चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि 12 साल से मैं भी महिला पहलवानों को प्रशिक्षण दे रहा, लेकिन इस तरह की बातें कभी सामने नहीं आई। अगर उन्हें इस प्रकार की कोई दिक्कत थी तो मुझे बताना था।

दरअसल, महिला पहलवानों द्वारा भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष पर यौन शोषण का आरोप लगाया है। इसको लेकर जमकर बवाल चल रहा है। जंतर-मंतर में खिलाड़ियों ने प्रदर्शन भी किया है। इस मामले में रायपुर पहुंचे अर्जुन अवार्डी कृपा शंकर पटेल विश्नोई सामने आए हैं। उन्होंने खिलाड़ियों का समर्थन किया है। उन्होंने कहा कि महिला पहलवानों ने अगर आरोप लगाएं हैं तो उसकी जांच होनी चाहिए। किसी और को भी इस तरह से परेशानी है तो उसे खुलकर सामने आना चाहिए। महिला पहलवानों के साथ यौन प्रताड़ना हुआ है तो यह काफी चिंतनीय विषय है। यह बातें महिला कुश्ती के कोच और खिलाड़ी अर्जुन अवार्डी कृपा शंकर विश्नोई ने रायपुर के प्रेस क्लब में आयोजित पत्रकारवार्ता के दौरान कही।

खेल से जुड़ने के बाद नशे से दूर :

- युवाओं को संदेश देते हुए कृपा शंकर पटेल विश्नोई ने कहा कि युवा शक्ति है। खेल आपको कभी गुमराह नहीं होने देता। जब आप मैदान में पसीना बहाते है तो आप शराब नहीं दूध और जूस पीते हैं। जो शरीर के विकास के लिए ज्यादा फायदेमंद है। खेल से मानसिकता में भी बड़ा बदलाव आता है। समान्य इंसान एक बार हारने के बाद वह निराश हो जाता है और गलत कदम उठा लेता है, लेकिन एक खिलाड़ी कभी हार नहीं मानता। खिलाड़ी एक बार हारने के बाद जीतने के लिए दोबारा प्रयास करता है। और वह तब तक नहीं रूकता जब तक वह जीत नहीं जाता। इसलिए ज्यादा से ज्यादा युवाओं को खेल से जुड़ना चाहिए।

छत्तीसगढ़ में खेल को बढ़ावा देने की कही बात :

- उन्होंने मीडिया के सवाल पर कहा कि छत्तीसगढ़ में संभावनाएं हैं। अगर उनकी कहीं भी जरूरत पड़ती है तो यहां के संघ के साथ मिलकर लगातार खिलाड़ियों को समय-समय पर अपने अनुभव को साझा करते रहेंगे।

11 स्वर्ण पदक जीते हैं :

कृपा शंकर पटेल विश्नोई भारतीय पहलवान और कोच हैं। उन्हें अर्जुन पुरस्कार से भी सम्मानित किया जा चुका है। उन्होंने दंगल फिल्म के लिए आमिर खान और महिला एक्टरों को कुश्ती का प्रशिक्षण दिया था। उन्हें राष्ट्रीय मीडिया रत्न पुरस्कार-2019 से सम्मानित किया गया। उन्होंने 53 अंतरराष्ट्रीय कुश्ती प्रतियोगिताओं में भाग लिया, जिसमें 11 स्वर्ण, आठ रजत और पांच कांस्य पदक जीते।

दंगल फिल्म के कलाकारों को 10 महीने दी थी ट्रेनिंग :

- कृपा शंकर ने बताया कि दंगल फिल्म के पहलवानों को उन्होंने 10 महीने की ट्रेनिंग दी थी। शुरुआत में काफी दिक्कतों को सामना करना पड़ा था। इसके बाद धीरे-धीरे सब सीख गए। अमीर खान ने खुद फोन किया था। इसके अलावा अमीर खान प्रोडक्शन से उन्हें फोन किया गया। उन लोगों को महिला कोच की जरूरत थी।

Posted By: Ashish Kumar Gupta

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close