रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। डीडी नगर, सेक्टर-दो में आज राम-जानकी स्वयंवर सहित रामायण के अन्य प्रसंगों के साथ लंकेश का दहन किया गया। यहां बच्चों ने ही पूरी भूमिका निभाई। इससे पूर्व देवी मां के दर्शन करने के उपरान्त इन्हें कालोनी का भ्रमण भी कराया गया। रथ पर आरूढ़ राम-सीता, लक्ष्मणजी और हनुमानजी के वेश में कालोनी भ्रमण करते इन बच्चों को देखकर लोगों ने पूरी आस्था के साथ इनकी पूजा-अर्चना की।

संगम प्रयास समिति के प्रमुख रथिस श्रीवास्तव ने बताया कि बीते दो वर्षो से ऐसा आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि रामजी की भूमिका में हर्ष मुदिलियार थे। सीताजी की भूमिका में प्रिंसी वर्मा थी। वहीं, लक्ष्मणजी और हनुमानजी की भूमिका सूर्यांस साहू और आरेन श्रीवास्तव ने निभाई। उन्होंने बताया कि सभी बच्चे सात से लेकर नौ वर्ष की आयु के ही हैं। इन सभी बच्चों ने तीन घंटे तक संयम के साथ अपनी भूमिका पूरी की।

भ्रमण के पश्चात जब ये लौटे तब लोगों ने जय श्रीराम के उद्घोष किए। सीता स्वयंवर के प्रमुख कार्यक्रम के बाद रावण दहन किया गया। कार्यक्रम में कल्पना श्रीवास्तव, गीता श्रीवास्तव, अंकिता श्रीवास्तव, रुचि मिश्रा, रुचि सिन्हा, सोमी श्रीवास्तव, बाबू सिन्हा, चिंकू श्रीवास्तव, हार्दिक, अक्षरा पारे, परी वर्मा, अवि मिश्रा, अनवी मिश्रा, चीकू श्रीवास्तव, कुंदन सोनी, सन्नी साहू, राजा उपाध्याय, रेणु उपाध्याय सहित कालोनी के अन्य लोग उपस्थित रहें।

लगातार दसवे वर्ष विराजीं माता

संगम प्रयास समिति के द्वारा लगातार दसवे वर्ष माता की स्थापना की गई। सेक्टर-दो में पूरी आस्था के साथ नौ दिनों तक माता की स्तुति की गई। आयोजकों ने बताया कि पूजन के पश्चात यहां गरबा का भी आयोजन किया गया। इसमें बड़ी संख्या में स्त्रियों और बच्चों ने नृत्य के माध्यम से शक्ति की भक्ति की। माता की प्रतिमा की स्थापना से लेकर विजयादशमी कार्यक्रम में कालोनी के लोगों का सहयोग मिला। गुरुवार को माता की प्रतिमा का विसर्जन किया जाएगा।

Posted By: Pramod Sahu

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close