रायपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। रायपुर नगर निगम की नेता प्रतिपक्ष मीनल चौबे ने महापौर एजाज ढेबर पर जमकर हमला बोला है। उन्होंने कहा है कि महापौर की एकला चलो की नीति, अनिश्चित कार्यप्रणाली,तानाशाही और सत्ता के घमंड ने दो साल वर्ष के भीतर रायपुर नगर निगम का बुरा हाल कर दिया है। जनता की मूलभूत समस्या के समाधान से लेकर शहर के विकास तक, पिछले दो साल में उपलब्धि के नाम पर बताने के लिए इस निगम सरकार के पास कुछ भी नहीं है। आंकड़ों की बाजीगरी में शहर को उलझा कर स्वच्छता रैंकिंग में नंबर एक बनाने का सपना दिखाने वाले महापौर आम जनता को मच्छर और धूल से मुक्त नहीं करा पा रहे है।

नेता प्रतिपक्ष मीनल चौबे ने बताया कि शहर में सुंदरीकरण की आड़ में अवैध निर्माण से जनता परेशान है।कोरोना महामारी से संभलने की कोशिश कर रही जनता को संपत्ति कर में चक्रवृद्धि ब्याज रोपित कर उल्टे उनकी परेशानी बढ़ा रही है। कोरोना महामारी के संभावित खतरे की पूर्व सूचना मिलने के बावजूद स्वास्थ्य के लिए स्थायी इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार करने के बजाय अस्थायी व्यवस्था कर जनता के लाखों रुपए बर्बाद किए जा रहे हैं।

पार्षद निधि जोनों तक नहीं पहुंच पा रही है। बूढ़ा तालाब में सात करोड़ के फव्वारे जो अभी तक चालू नहीं हुए लगाकर बड़ा भ्रष्टाचार किया जा रहा है। जनता को विश्वास में लिए बिना मनमाने ढंग से यूजर चार्ज वसूलना जनता के जेब ने डाके के ही समान है। भाठागांव बस टर्मिनल, शास्त्री बाजार, रजिस्ट्री आफिस, कलेक्टोरेट सहित शहर में स्थित सारे बड़े फल और सब्जी मार्केट में अवैध लोगों को प्रश्रय देकर उगाही का अड्डा बना दिया गया है।

संशय में गोलबाजार के व्यापारी

मीनल चौबे ने कहा कि शहर के हृदय स्थल गोलबाजार में जिन व्यापारियों की सुविधा के लिए व्यवस्था बनाने का ढिंढोरा पीटा जा रहा है,आज वही व्यापारी विभिन्न मुद्दों को लेकर संशय में हैं।आज तक उन्हें ना तो योजना का कोई प्रपत्र दिया गया ना कोई जानकारी दी गई है। उल्टे उन्हें अनाप-शनाप डेवलपमेंट चार्ज वसूलने का आदेश थमा दिया गया है जिससे व्यापारी वर्ग में भय का वातावरण व्याप्त है।

हद तो तब हो जा रही है जब सेवानिवृत्त के बाद भी नगर निगम के सैकड़ों कर्मचारी ग्रेच्युटी और पेंशन की राशि के लिए भटक रहे हैं और उनका परिवार परेशान हो रहा है। इन अव्यवस्थाओं के लिए महापौर को दोषी मानते हुए शहर की व्यवस्था न संभाल पाने के कारण भाजपा पार्षद दल ने नैतिकता के नाते इस्तीफा देने की मांग की है।

रायपुर शहर का विकास होते देखना विपक्ष को पसंद नहीं है। हम तो हमेशा दलगत राजनीति से उपर उठकर काम करने की बात करते है, लेकिन भाजपा को हर विषय में केवल राजनीति ही करना आता है। नेता प्रतिपक्ष जी का मैं सम्मान करता हूं और निवेदन करता हूं कि शहर के विकास में हमारा सहयोग दे। -एजाज ढेबर, महापौर-रायपुर नगर निगम (फोटो)

Posted By: Kadir Khan

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close