रायपुर। Learning License: कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए जिला प्रशासन ने लाकडाउन लगा दिया है। लाकडाउन के चलते सभी कार्यालय बंद हैं। कुछ लोग ऐसे भी हैं, जिनके लर्निंग लाइसेंस वाहनों के परमिट और फिटनेस की अवधि समाप्त हो गई है। जिससे चलते वह काफी परेशान हैं। ऐसे में परिवहन विभाग ने इन लोगों के लिए राहत दी है। परिवहन विभाग ने ड्राइविंग लाइसेंस, परमिट और फिटनेेस 30 जून तक आरटीओ कार्यालय में बनवा सकेंगे। इसके लिए अतिरिक्त शुल्क नहीं देना होगा।

ज्ञात हो कि प्रदेश में करीब 55 लाख वाहन हैं। प्रतिदिन रायपुर आरटीओ कार्यालय में 50 गाड़ियों के परमिट, 140 गाड़ियों के फिटनेस, सौ लर्निंग लाइसेंस और करीब 50 लाइसेंस नवीनीकरण का काम किया जाता है। लॉकडाउन में पंजीकृत व्यावसायिक वाहनों का संचालन बंद है, केवल अति आवश्यक सेवाओं से जुड़े वाहनों का ही संचालन हो रहा है।

परिवहन सेवा पूरी तरह से ठप है। परिवहन कार्यालय भी बंद था, जिस कारण बहुत से लोगों का फिटनेस, टैक्स, लर्निंग लाइसेंस और परमिट का काम नहीं हो सका। इसे देखते हुए परिवहन विभाग ने इसकी समय सीमा 30 जून तक बढ़ा दी है।

छह माह भीतर करना होता है रिनुअल

परिवहन विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक लर्निग लाइसेंस छह माह के अंदर नियमित करना पड़ता है। छह माह के अंदर यदि आवेदन नहीं कर पाए तो वह निरस्त हो जाता है। अवधि समाप्त होने के बाद अभ्यर्थी को दोबारा लर्निंग लाइसेंस बनवाना पड़ता है। लेकिन लाकडाउन के चलते जिन अभ्यर्थियों कालर्निंग लाइसेंस अवधि इस दौरान समाप्त हो रही है। वह 30 जून तक आसानी से बनवा सकेंगे। वर्मतान में रावाभांठा और पंडरी कार्यालय मिलाकर करीब दो हजार लाइसेंस पेंडिंग हैं।

अतिरिक्त शुल्क नहीं देना पड़ेगा

'लॉकडाउन के दौरान जिनका लर्निंग लाइसेंस, परमानेंट लाइसेंस, फिटनेस प्रमाणपत्र और परमिट आदि नहीं बन पाया है, उनको घबराने की जरूरत नहीं है। वह अब 30 जून तक आसानी से लर्निंग लाइसेंस बनवा सकेंगे। इससे लिए उनको अतिरिक्त शुल्क नहीं देना पड़ेगा।'

- शैलाभ साहू, आरटीओ रायपुर

Posted By: Azmat Ali

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close