रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि स्कूल शिक्षा विभाग में एक साल के भीतर हुए प्रशासनिक तबादलों में रायपुर के 80 प्रतिशत शिक्षक, व्याख्याता और प्राचार्य अपनी कुर्सी पर ही जमे हुए हैं। इन मामलों में कुछ ने न्यायालय की शरण लेकर यथावत रहने का स्थगन आदेश करा लिया है तो कुछ प्रशासनिक त्रुटियों के कारण अपनी कुर्सी पर जमे हुए हैं। एक साल के भीतर रायपुर में जिन प्राचार्यों का तबादला हुआ है उनमें सरकारी हायर सेकंडरी स्कूल बोड़पारा अभनपुर की प्राचार्य मंजरी जैन और बीईओ अभनपुर ममता सिंह का एक साथ एक ही सरकारी हायर सेकंडरी स्कूल में तबादला हुआ था। इस प्रशासनिक त्रुटि को आज तक सुधारा नहीं गया है। नतीजा यह हुआ कि प्राचार्य ममता सिंह ने तो ज्वाइनिंग दे दी, पर प्राचार्य मंजरी जैन अपने पुरानी स्कूल बोड़पारा अभनपुर में ही पदस्थ हैं। मंजरी जैन के तबादला आदेश में न ही सरकार ने कोई संशोधन किया है और न ही वे अपने पुराने स्कूल से हट पाई हैं। इसी तरह हायर सेकंडरी स्कूल सिलियारी की भारती अग्रवाल जिनका तबादला बोड़पारा अभनपुर हुआ था, वे अपनी जगह में नहीं आ पाई हैं। भारती अग्रवाल अपने पुराने स्कूल सिलियारी में ही सेवाएं दे रही हैं। उन्हें सिलियारी से बोड़पारा में ज्वाइनिंग देनी थी। इसी तरह हायर सेकंडरी स्कूल रायपुर की वर्तमान प्राचार्य ऋतु सुरंगे का तबादला हायर सेकंडरी स्कूल माढ़र में हुआ था। सुरंगे कोर्ट से स्थगन आदेश लेकर अपने पुराने स्कूल में सेवाएं दे रही हैं। इसी तरह हाई स्कूल सुंदरकेरा की प्राचार्य शुभा तिवारी का तबादला हायर सेकंडरी स्कूल रायपुरा में हुआ था, वह भी अपनी सेवाएं यथावत ही दे रही हैं। दिलचस्प बात यह है कि प्रशासन ने आवेदन के बाद 32 तबादलों को खुद ही निरस्त किया था।

कोर्ट के आदेश का दे रहे हवाला

राजधानी के प्रोफेसर जेएन पांडेय स्कूल के प्राचार्य एमआर सावंत का शासकीय हायर सेकंडरी स्कूल पथरी रायपुर में तबादला हुआ था। इसी तरह इसी स्कूल के व्याख्याता राघुवेंद्र मिश्रा का तबादला हायर सेकंडरी स्कूल कनकी में हुआ था। इन दोनों ने कोर्ट में आवेदन करके फिर जेएन पांडेय स्कूल में ज्वाइनिंग दे दी है। इसी तरह जेआर दानी स्कूल के प्राचार्य विजय खंडेलवाल को शासकीय हायर सेकंडरी स्कूल हरिहर नवापारा राजिम, इसी स्कूल के व्याख्याता हितेश दिवान को हाईस्कूल खरोरा स्थानांतरित किया गया था। दोनों ने ही फिर दानी गर्ल्स स्कूल में ज्वाइनिंग ले ली है। ये सभी कोर्ट के आदेश का हवाला दे रहे हैं। वहीं शांति नगर हायर सेकेंडरी स्कूल रायपुर की प्राचार्य विद्या सक्सेना को शासकीय हायर सेकंडरी स्कूल चांपाझर रायपुर में पदस्थ किया गया है जो कि कोर्ट के आदेश पर यथावत अपने पुराने स्कूल में ही हैं।

कई जगहों में प्रभारी प्राचार्य

रायपुर में प्राचार्य के 191 पद स्वीकृत हैं, इनमें 45 पद अभी भी खाली हैं, यहां प्रभारियों के भरोसे काम चल रहा हैं। इसी तरह उप प्राचार्य के 11 पद, विभिन्न विषयों में व्याख्याता के 257 पद खाली हैं। प्रधानपाठकों में माध्यमिक स्तर पर 159, नियमित शिक्षक के 493 पद हैं। प्रधानपाठक प्राथमिक स्तर पर 308, सहायक शिक्षक 756, सहायक शिक्षक विज्ञान 315 पद खाली हैं।

वर्जन

जिन्होंने स्थानांतरित स्कूल में ज्वाइनिंग नहीं दी है, वे सभी कोर्ट के स्थगन आदेश के बाद बैठे हुए हैं। प्रशासनिक आदेश को नहीं मानने वालों पर कार्रवाई होती है। - जीआर चंद्राकर, डीईओ, रायपुर

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local