रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। प्रदेश के इंजीनियरिंग कालेजों में दाखिले के चल रही प्रक्रिया अंतिम चरण में है। इंजीनियरिंग कालेजों में प्रवेश के लिए 10 सितंबर से पंजीयन की प्रक्रिया शुरू हुई थी। प्रथम चरण में 23 सितंबर से सीटों का आवंटन शुरू हुआ, जो 29 सितंबर को खत्म हो गया। इसके बाद एक अक्टूबर से दूसरे चरण का पंजीयन शुरू हुआ और नौ अक्टूबर से सीटों का आवंटन शुरू हुआ, जो 18 अक्टूबर तक चला। इसके बाद 21 अक्टूबर को बची सीटों पर दाखिले के लिए सूची जारी की जाएगी। कोरोना के कारण इस बार प्री इंजीनियरिंग टेस्ट नहीं हुआ है। इसलिए 12वीं में फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथ्स में मिले अंकों के आधार पर प्रावीण्य सूची बनाकर प्रवेश दिया जा रहा है।

रायपुर, बिलासपुर और जगदलपुर में सरकारी इंजीनियरिंग कालेज में पूरी सीटें भर गई हैं। वहां 94 फीसद से कम अंक वाले विद्यार्थी प्रथम चरण में ही काउंसिलिंग से बाहर हो गए थे ।

नहीं हुईं प्रवेश परीक्षाएं

प्री इंजीनियरिंग टेस्ट (पीईटी), प्री फार्मेसी टेस्ट (पीपीएचटी), प्री पालिटेक्निक टेस्ट (पीपीटी), प्री-एग्रीकल्चर (पीएटी) और मास्टर आफ कंप्यूटर साइंस (एमसीए) सहित कई प्रमुख पाठ्यक्रमों की प्रवेश परीक्षा नहीं हुई है। विद्यार्थियों को 12वीं में मिले नंबरों के आधार पर ही प्रवेश दिया जा रहा है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local