रायपुर। Literary Program: रचनात्मक गतिविधियों को प्रोत्साहित करने को लेकर राजधानी में लाइफ कैंपस की तरफ से आनलाइन कविता स्पर्धा आयोजित हुई। इसमें देश भर के 113 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया। मौके पर स्पर्धा के निर्णायक डा. अनिल गुप्ता ने कहा कि व्यक्ति के जन्म से ही वह अपने आसपास के वातावरण से प्रश्नात्मकता को ग्रहण करता है और एक उम्र के साथ ही उसकी रचनात्मकता मजबूत होती है।

इस कोरोना काल ने हम सबको जीने के नए अंदाज के साथ रचनाधर्मिता के गुणों को और मजबूत करने की सीख दी है। इसलिए इस समय कई कृतियों को विभिन्ना विधाओं के माध्यम से समाज के सामने प्रस्तुत किया जा रहा है। कार्यक्रम के अतिथि हेमंत पाणीग्रही ने कहा कि आप जब अपने व्यथा की कथा को कहते है तो आप धीरे-धीरे रचनाधर्मिता के मार्ग पर बढ़ने लगते हैं।

समाज का द्वंद्व आपको कला माध्यमों से जोड़ता है और आपकी सक्रियता से ही सफल होते है। स्पर्धा में पंजाब के दूपिंदर प्रथम, बिहार की नेहा द्वितीय, पांडिचेरी की अक्षया तृतीय रहीं। कार्यक्रम में नीतू, संदीप, रूपम, युवी, शिखर, सुष्मिता, जेसिका, गुंजन, भरत, सुकून, सानवी और तंजानिया से ललिता माथुर की सहभागिता रही।

इधर- निबंध, स्लोगन, चित्रकला और योगासन पर वर्चुअल प्रतियोगिताएं विजेता पुरस्कृत

छत्तीसगढ़ ओलंपिक संघ द्वारा विश्व ओलंपिक दिवस के मौके पर निबंध, स्लोगन, चित्रकला और योगासन की वर्चुअल आयोजन किया गया। विजेता खिलाड़ियों को ओलंपिक दिवस पर यूनियन क्लब में पुरस्कृत किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में कुलदीप जुनेजा विधायक रायपुर एवं वर्चुवल रूप से भारतीय ओलिंपिक संघ के महासचिव राजीव मेहता, खेल मंत्री उमेश पटेल, स्कूल शिक्षा मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम, स्वेता सिन्हा आयुक्त खेल एवं युवा कल्याण, छत्तीसगढ़ ओलंपिक संघ के महासचिव गुरुचरण सिंह होरा सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

Posted By: Azmat Ali

NaiDunia Local
NaiDunia Local