रायपुर। Lockdown In Chhattisgarh: छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस के बेकाबू होने के खतरे के बीच अगले तीन दिन में राज्य के आधा दर्जन से अधिक बड़े जिलों को लॉक किया जा रहा है। रायपुर, दुर्ग, सरगुजा और बेमेतरा में सोमवार रात नौ बजे से सख्त लॉकडाउन किया जा रहा है। बिलासपुर और धमतरी में मंगलवार और कोरबा में बुधवार से पूर्ण लॉकडाउन लागू किया जाएगा। प्रशासन ने इस बार लॉकडाउन पर सख्ती करने का फैसला किया है। आम लोगों के सड़क पर निकलने पर भी रोक रहेगी। छत्तीसगढ़ में कोरोना महामारी के प्रकोप को देखते हुए राजधानी में 21 सितंबर रात नौ बजे से 28 सितंबर तक लॉकडाउन लगाया गया है। यह लोगों के लिए अहम इसलिए भी है, क्योंकि इस बीच अगर लोग नहीं संभलते हैं, तो फिर कहीं अधिक तेजी से कोरोना संक्रमण पांव पसार सकता है।

संक्रमण की चेन तोड़ना जरूरी

बता दें कि 25 मार्च को पहली बार लॉकडाउन लगाया गया था। इस बीच प्रदेश में तीन संक्रमित मरीज थे। वहीं, लॉकडाउन-4 के समाप्त होने तक यानी 31 मई तक प्रदेश में 493 स्वस्थ और 377 सक्रिय मरीज थे। मगर, एक जून से अनलॉक का दौर शुरू होने के साथ ही लोगों को छूट मिलनी शुरू हुई। फिर संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ने लगी। अब 19 सितंबर की स्थिति में राज्य में 84 हजार 234 संक्रमित मिल चुके हैं। सरकार द्वारा संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए लॉकडाउन का फैसला किया गया है। मगर, जब तक लोगों में जागरूकता नहीं आएगी, संक्रमण की चेन तोड़ना संभव नहीं हो सकेगा।

बिना वजह घूमने वालों से सख्ती से निपटेगी पुलिस

रायपुर जिले में 21 सितंबर की रात से हफ्ते भर के लिए लगाए गए संपूर्ण लॉकडाउन के दौरान सड़क पर बिना वजह घूमने वालों से इस बार पुलिस सख्ती से निपटेगी। इसके पहले इस बार रविवार को प्रशासन ने लोगों को राहत देते हुए दुकान खोलने की अनुमति दी है। इस दिन अधिक भीड़ से निपटने के लिए पुलिस और नगर निगम की टीम तैनात रहेगी। बिना काम से बाहर निकलना मना है। लॉकडाउन के दौरान दवा लेने या अस्पताल जाने की जरूरत होने पर डाक्टर की पर्ची लेकर जाना होगा। बिना पर्ची के घर से बाहर निकलने पर पुलिस और नगर निगम की टीम कार्रवाई करेगी।

रायपुर जिले में 23 प्वाइंट

एसएसपी अजय यादव ने बताया कि पूरे रायपुर जिले में 23 प्वाइंट बनाए गए हैं। इनमें 14 शहर और नौ ग्रामीण इलाके में होंगे। साथ ही ग्रामीण जिले की सीमा भी सील होगी। इन जगहों पर 24 घंटे चार सौ बल तैनात रहेगा। शहर के अंदर 40 जगहों पर बैरिकेडिंग होगी। थानावार दो-दो पेट्रोलिंग दिन-रात घूमेगी।

दुकानों में न लगाएं भीड़

लॉकडाउन के ठीक पहले आज बाजार खुले रहेंगे। ऐसे में जरुरत का सामान खरीदने के लिए दुकानों में भीड़ न लगे, इसके लिए पुलिस पेट्रोलिंग और नगर निगम टीम को नजर रखने कहा गया है। दुकानों में शारीरिक दूरी का पालन करने के साथ दुकानदार और ग्राहक को मास्क पहनना अनिवार्य होगा, अन्यथा कार्रवाई की जाएगी। एसएसपी ने लोगों से अपील की है कि दुकानों में भीड़ न लगाएं। बाजार दो दिन खुले हैं, आराम से किराना आदि सामान खरीदें। लॉकडाउन में सब्जी की समस्या जरूर रहेगी। सब्जी बाजार के साथ गली-मोहल्लों में ठेले पर सब्जी बेचने पर भी प्रतिबंध लगाया गया है। लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों पर एफआईआर भी दर्ज होगी। उन्होंने पुलिस जवानों को भी हिदायत दी है कि बेवजह किसी के साथ दुर्व्यवहार या मारपीट न करें। लॉकडाउन के दौरान परीक्षा के लिए छूट रहेगी।

ट्रैफिक सिग्नल होगा बंद

डीएसपी ट्रैफिक सतीश ठाकुर ने बताया कि राजधानी के सभी चौक-चौराहों का ट्रैफिक सिग्नल 21 सितंबर की रात से बंद कर दिया जाएगा। सात दिनों तक चौक के दायरे को छोटा करने जिक जैक और स्टॉपर लगे रहेंगे। इस दौरान पुलिस फ्लैग मार्च करेंगी। ड्रोन कैमरे के अलावा चौक-चौराहे पर लगे कैमरे से भी निगरानी की जाएगी। शहर के आठ इंट्री प्वाइंट पर आने-जाने वालों लोगों पर नजर रखी जाएगी। पचपेढ़ी नाका, संतोषीनगर, अमलेश्वर, टाटीबंद, धरसींवा, विधानसभा, मंदिर हसौद आदि प्रवेश मार्गों पर किसी को बेवजह आने नहीं दिया जाएगा।

तो गाड़ियां होंगी जब्त

किसी जरुरी काम से बाहर जाने के लिए ई-पास के लिए ऑनलाइन आवेदन देना होगा। इमरजेंसी की स्थिति में चारपहिया वाहनों में ड्राइवर समेत अधिकतम तीन, दोपहिया वाहन में केवल दो लोग ही सफर करेंगे। अगर किसी ने नियमों की अनदेखी की, तो 15 दिन के लिए वाहन जब्त कर लिया जाएगा। किसी भी तरह की सभा, आयोजन या रैली प्रतिबंधित होगी।

शासकीय निर्देशों का पालन जरूरी

आमतौर पर देखा गया है कि कोरोना से बचने के लिए लोग सरकारी निर्देशों का पालन नहीं कर रहे हैं। शारीरिक दूरी, मास्क पहनने और भीड़-भाड़ वाले क्षेत्रों से बचने की बजाय लोग खुद ही भीड़ का हिस्सा बन रहे हैं। लॉकडाउन की जानकारी होने के बाद बाजारों में लोगों की बेतहाशा भीड़ देखी गई। ऐसे में जिन्हें संक्रमित नहीं होना था, वह भी संपर्क में आकर संक्रमण के शिकार हो रहे हैं।

Posted By: Himanshu Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020