रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। हिंदू आस्था को अहित करने और मां काली के आपत्तिजनक पोस्टर प्रसारित करने वाली काली नामक वेब सीरीज फिल्म की निर्माता लीना मणिमेकलिई और अन्य के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराने की मांग एनएसयूआइ ने की है। एनएसयूआइ रायपुर जिला अध्यक्ष शांतनु झा के नेतृत्व में सिविल लाइन सीएसपी वीरेंद्र चतुर्वेदी को ज्ञापन सौंपा गया।

मीडिया में बयान जारी करते हुए शांतनु झा ने बताया कि दो जुलाई को कनाडा फिल्म फेस्टिवल में फिल्म निर्माता लीना मणिमेकलई द्वारा काली नामक वेब सीरीज फिल्म का पोस्टर प्रसारित किया गया। इसमें देवी काली को सिगरेट पीते दिखाया गया है। साथ ही इस पोस्टर में मां काली के एक हाथ में त्रिशूल और दूसरे हाथ में एलजीबीटीक्यू समुदाय का झंडा भी नजर आ रहा है। हिंदू देवी मां को अत्यंत विदूपित ढंग से प्रस्तुत किया गया है। इस तरह के पोस्टर से हिंदू धर्म के करोड़ों लोगों की आस्था के साथ खिलवाड़ हुआ है। उनकी भावनाओं को गहरी चोट लगी है। साथ ही समाज के अन्य धर्म व वर्ग के लोग भी इससे आहत हुए हैं। इस कृत्य से भारत देश में अप्रिय स्थिति निर्मित हो सकती है। ज्ञापन सौंपने के दौरान मुख्य रूप से शांतनु झा, देवेंद्र पाल, नूर अली, तारिक अनवर, हरप्रीत सिंह, डिकेश डेविड, यश, अनिल मौजूद थे।

काली फिल्म के विवादित पोस्टर को लेकर थाने में शिकायत

इससे पहले वेब सीरीज के डायरेक्टर लीना मनिकमई के खिलाफ भाजयुमो रायपुर ग्रामीण के कार्यकर्ताओं ने आक्रोश व्यक्त किया। काली फिल्म के विवादित पोस्टर को लेकर नारेबाजी करते हुए भाजयुमो कार्यकर्ता सेजबहार के मुजगहन थाने पहुंचे।

कार्यकर्ता राहुल ठाकुर ने कहा कि फिल्म काली के पोस्टर व वीडियो में हिंदुओं की देवी मां काली को सिगरेट पीते दिखाया गया है। यह हिंदू देवी और हिंदुओं की भावनाओं के साथ खिलवाड़ है। हमारी आस्था पर आघात है। इसके खिलाफ भाजयुमो ग्रामीण मंडल ने एफआइआर दर्ज करने के लिए आवेदन दिया। इस दौरान मुख्य रूप से जितेन्द्र धुरंधर, हरिओम साहू, गजेंद्र वर्मा, तिलक साहू, रूपक धनकर, रुपेश यादव, मुकेश सिंह ठाकुर, कन्हैया राणा, निलेश तिवारी सहित अन्य कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Posted By: Ashish Kumar Gupta

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close