रायपुर। राज्य आर्थिक अन्वेषण, एंटी करप्शन ब्यूरो, जेल, पुलिस और वन विभाग के मुखिया की जल्दी ही विदाई होगी। दरअसल, तीनों विभाग प्रमुख सेवानिवृत होने के करीब हैं। सबसे पहले इसी महीने ईओडब्ल्यू के संचालक डीएम अवस्थी, फिर मई में वन बल प्रमुख और पीसीसीएफ संजय शुक्ला, जून में एमडी राज्य वन विकास निगम आशीष भट्ट, सितंबर में जेल डीजी संजय पिल्ले के साथ ही रायपुर सीसीएफ जेआर नायक और जगदलपुर सीसीएफ मोहम्मद शाहिद सेवानिवृत होंगे।

राज्य आर्थिक अन्वेषण, एंटी करप्शन ब्यूरो, जेल और वन विभाग के उच्च अधिकारियों की सेवानिवृत्ति को देखते हुए गृह विभाग अभी से उनके स्थान पर वरिष्ठ अधिकारियों की नियुक्ति की तैयारी कर रहा है। वर्तमान में ईओडब्ल्यू एवं एसीबी में संचालक डीएम अवस्थी के बाद एसपी स्तर के अधिकारी काम कर रहे हैं। हाल ही में तीन एडिशनल एसपी गौरव राम प्रवेश राय, ओमप्रकाश चंदेल और कीर्तन राठौर को पदस्थ किया गया है। वहीं, पहले से कुछ अन्य राजपत्रित पुलिस अधिकारी काम कर रहे हैं।

अवस्थी, पिल्ले के बाद जुनेजा की होगी विदाई

पुलिस महकमे में आगामी सात महीनों में महानिदेशक स्तर के दो पद रिक्त होंगे। मार्च में ईओडब्ल्यू एवं एसीबी चीफ डीएम अवस्थी और उनके बाद सितंबर संजय पिल्ले सेवानिवृत होंगे। दोनों वरिष्ठ आइपीएस अधिकारियों के साथ ही प्रदेश के पुलिस मुखिया अशोक जुनेजा भी इसी साल सेवानिवृत होंगे। लिहाजा, सरकार को नया डीजीपी नियुक्त करना होगा। इसके लिए तीन वरिष्ठ आइपीएस अधिकारियों का पैनल तैयार कर केंद्रीय गृह मंत्रालय को स्वीकृति के लिए भेजा जाएगा।

राजेश मिश्रा को मिल सकती है एसीबी की कमान

जानकार सूत्रों के मुताबिक डीएम अवस्थी के सेवानिवृत होने से पहले वरिष्ठ आइपीएस राजेश मिश्रा को ईओडब्ल्यू एवं एसीबी का चीफ बनाया जा सकता है। फिलहाल संभावित अधिकारियों की सूची बनाकर इसे अंतिम रूप देने के बाद राज्य सरकार को स्वीकृति के लिए भेजा जाएगा। अनुमति मिलते ही पदोन्नाति और फेरबदल की सूची जारी की जाएगी।

पीसीसीएफ की जल्द होगी नियुक्ति

वरिष्ठ आइएफएस अधिकारी और वन विभाग के मुखिया संजय शुक्ला मई 2023 में सेवानिवृत्त होंगे। वन विभाग के मुखिया की विदाई होते ही नए पीसीसीएफ की नियुक्ति की जाएगी। इसके साथ ही वन विभाग में बड़ा फेरबदल भी होगा। वर्तमान में पीसीसीएफ कार्ययोजना सुधीर अग्रवाल को वाइल्ड लाइफ और एपीसीसीएफ अनुश्रवण एवं मूल्यांकन का काम देख रहे कौशलेंद्र सिंह को एपीसीसीएफ वाइल्ड लाइफ की अतिरिक्त जिम्मेदारी सौंपी गई है।

10 महीने बाद जेल डीआइजी की पदस्थापना

डीआइजी केके गुप्ता के सेवानिवृत होने के बाद से जेल विभाग में पिछले 10 महीने से डीआइजी का पद रिक्त था। पिछले दिनों दुर्ग सेंट्रल जेल के अधीक्षक शेखर सिंह तिग्गा को डीआइजी जेल के पद पर पदोन्नत कर नियुक्ति की जा चुकी है, लेकिन उन्होंने अब तक मुख्यालय में पदभार नहीं संभाला है। गृह व जेल विभाग से जारी आदेश के अनुसार जिस दिन तिग्गा पदभार संभालेंगे, उसी दिन से वे डीआइजी पदोन्नात माने जाएंगे।

Posted By: Ashish Kumar Gupta

छत्तीसगढ़
छत्तीसगढ़
  • Font Size
  • Close