रायपुर। भानुप्रतापपुर के विायक मनोज मंडावी सोमवार को सर्वसम्मति से विानसभा के उपाध्यक्ष निर्वाचित हुए। मंडावी को उपाध्यक्ष बनाने का प्रस्ताव सीएम भूपेश बघेल, रमलाल कौशिक, र्मजीत सिंह, केशव चंद्रा, रविन्द्र चौबे, सत्यनारायण शर्मा, देवती कर्मा, टीएस सिंहदेव और अजय चंद्राकर ने पेश किया, जिसका सदस्यों ने समर्थन किया। उपाध्यक्ष चुने जाने के बाद मंडावी ने कहा कि वे सदन की उच्च परंपराओं का पालन करेंगे और पद की गरिमा को बनाए रखेंगे।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि मनोज मंडावी विानसभा में तीन बार चुने गए, आदिवासी नेता हैं। गौरव की बात है वे निर्विरो चुने गए। नेता प्रतिपक्ष रमलाल कौशिक ने कहा कि मंडावी पहली बार विायक बने, तब उनके साथ काम करने का मौका मिला। उनके उपाध्यक्ष बनने से उनकी विानसभा के साथ-साथ बस्तर अंचल को भी इसका लाभ मिलेगा। अजय चंद्राकर ने कहा कि मेरे लिए दोहरी खुशी है। वे मेरे व्यक्तिगत दोस्त हैं।

चंद्राकर ने मंडावी के नामांकन में विपक्ष को आमंत्रित नहीं करने पर नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि हमें बुलाया जाता तो हम भी नामांकन में शामिल होते। मंत्री शिव डहरिया ने कहा कि मैंने खुद बोला था। रमजीत सिंह ने कहा कि हम सब 1998 में पहली बार चुने गए। वो हंसमुख हैं। उपाध्यक्ष के पद पर बैठेंगे, तो हंसमुख व्यक्ति होगा। अब ये परंपरा बन गई है कि सत्ता पक्ष के ही उपाध्यक्ष बनेंगे, ये बने रहने दीजिए।

2001 से अब तक ये रहे विानसभा उपाध्यक्ष

प्रथम विानसभा-बनवारी लाल अग्रवाल- 28 मार्च 2001 से 9 मार्च 2003

प्रथम विानसभा - रमजीत सिंह- 13 मार्च 2003 से 5 दिसंबर 2003

द्वितीय विानसभा - बद्रीर दीवान - 12 जुलाई 2005 से 11 दिसंबर 2008

तृतीय विानसभा - नारायण चंदेल - 2 अगस्त 2010 से 11 दिसंबर 2013

चतुर्थ विानसभा - बद्रीर दीवान - 23 जुलाई से 2015 से 2018

Posted By: Sandeep Chourey