Raipur News: रायपुर। तेलीबांधा तालाब के किनारे बने मरीन ड्राइव की मरम्मत करने के नाम पर लाखों रुपये हर साल खर्च किए जाते हैं, लेकिन बीते छह माह से मरम्मत कार्य न होने से चकाचौंध में डूबे रहने वाले मरीन ड्राइव की सूरत बेनूर-सी हो गई है। इसका कारण यह कि पूर्व में इसकी देखरेख करने वाली कंपनी ने मरम्मत करने से अपने हाथ खड़े कर दिए हैं। बहरहाल अब इसके लिए एक नई कंपनी को काम सौंपने की तैयारी नगर निगम ने कर ली है। वैसे इधर लॉकडाउन में बंद मरीन ड्राइव को सैर-सपाटे के लिए खोल दिया गया। धीरे-धीरे लोगों की यहां खासतौर पर शाम को भीड़ भी जुटने लगी है, लेकिन तालाब में गंदगी जमा हो गई है। इतना ही नहीं, यहां अधिकांश स्ट्रीट और रंग-बिरंगी लाइटें नहीं जलती हैं। मरीन ड्राइव तालाब के किनारे विद्युत के खुले सर्किट बॉक्स और नंगे तार पाथ-वे पर हैं। यहां की अव्यवस्था का जायजा लेने के लिए नईदुनिया की टीम पहुुंची तो वहां चौंकाने वाले नजारे दिखे।

पानी में उतराई है गंदगी

मरीन ड्राइव के मुख्य प्रवेश द्वार के सामने एक बड़े हिस्से में तालाब के किनारे गंदगी का ढेर जमा है। वहां से दुर्गंध उठ रही है।

तालाब के किनारे झाड़-झंखाड़

हालत ये है कि तालाब के किनारे झाड़ और झंखाड़ उग आए हैं। इसकी सफाई महीनों से नहीं हुई है, जबकि इसकी सफाई मरीन ड्राइव खुलने के पहले दिन ही होनी थी।

50 सर्किट खुले बॉक्स, खतरे की घंटी

बता दें कि यहां 50 से अधिक स्ट्रीट लाइट और अन्य विद्युत उपकरण चलाने के लिए सर्किट बॉक्स हैं, जो खुले हैं। इतना ही नहीं, नंगे तार भी इधर-उधर बिखरे हैं। इससे हादसे की आशंका बढ़ गई है।

पाथ-वे भी जगह-जगह धंसे

मरीन ड्राइव के किनारे सैर-सपाटे के लिए बने पाथ-वे भी जगह-जगह धंस चुके हैं। इससे लोग यहां घूमते समय आए दिन गिरकर चोटिल हो जाते हैं, जबकि इसकी मरम्मत हाल में ही हुई थी।

सबसे ऊंचा तिरंगा झंडा नहीं फहर रहा

यहां प्रदेश का सबसे ऊंचा तिरंगा झंडा नहीं फहरा रहा है। इसकी ऊंचाई 82 फीट है।

किनारे पर डस्टबिन से कचरे का निस्तारण भी नहीं

तालाब के किनारे डस्टबीन से कचरे और कूड़े का निस्तारण भी नहीं हो रहा है। जबकि इसकी सफाई नियमित रूप से करना है।

यहां और भी खामियां मिलीं

1-यहां नाले से आने वाले सीवरेट ट्रीटमेंट प्लांट बंद।

2-तालाब किनारे अधिकांश स्ट्रीट लाइट बंद।

3-तालाब के बीच में रंगीन फव्वारे भी खराब।

4-बोटिंग पिछले छह माह से बंद।

बोले यहां आने वाले सैलानी

विजय पटेल-अब पहले जैसी रंगत नहीं

विजय पटेल ने कहा कि अब यहां पहले जैसी रंगत नहीं दिखती। इधर-उधर गंदगी फैली है।

आशुतोष मेहरा- मरम्मत में लापरवाही

आशुतोष मेहरा ने कहा कि यहां मरम्मत कार्य में लापरवाही बरती जा रही है। वहीं अब तिरंगा झंडा भी फहराता नहीं दिखता।

अभी लॉकडाउन के चलते मरम्मत कार्य पूरी तरह से नहीं हो पाया है। मरम्मत के लिए नई कंपनी से अनुबंध किया गया है। जल्द ही फिर से मरीन ड्राइव पहले से ज्यादा सुंदर दिखेगा।

- पुलक भट्टाचार्य, अपर आयुक्त, नगर निगम, रायपुर

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Raksha Bandhan 2020
Raksha Bandhan 2020