रायपुर (राज्य ब्यूरो)। छत्तीसगढ़ में तिरंगे पर राजनीति रुकने का नाम नहीं ले रही है। घर-घर तिरंगा अभियान को लेकर शुरू हुई राजनीति के बीच अब प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत को तिरंगा भेजा है। उधर, इस पर पलटवार करते हुए भाजपा प्रवक्ता ओपी चौधरी ने मरकाम को कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन पर राष्ट्रीय पर्व पर तिरंगे की जगह कांग्रेस का झंडा फहराने की याद दिला दी।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने संघ मुख्यालय में फहराने के लिए खादी का तिरंगा नागपुर के पते पर भेजा है और 15 अगस्त को हेडगेवार भवन (संघ मुख्यालय) पर फहराने का अनुरोध किया है। मरकाम ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दो अगस्त से 15 अगस्त तक देशवासियों को अपने इंटरनेट मीडिया अकांउट की डीपी में तिरंगा लगाने और 15 अगस्त को अपने-अपने घरों पर तिरंगा फहराने का भी अनुरोध किया है।

वहीं, दूसरी तरफ संघ के अधिकृत ट्वीटर अकांउट, संघ प्रमुख मोहन भागवत सहित संघ के प्रमुख पदाधिकारियों ने प्रधानमंत्री मोदी के अनुरोध को अस्वीकार कर दिया है। इन लोगों ने अपने इंटरनेट मीडिया के डीपी में तिरंगा झंडा नहीं लगाया है।

उधर, मरकाम के इस कदम का भाजपा ने भी जवाब देने में देर नहीं किया। भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता ओपी चौधरी ने मरकाम को कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन पर राष्ट्रीय पर्व पर तिरंगे की जगह कांग्रेस का झंडा फहराने की याद दिलाई। चौधरी ने कहा कि स्वतंत्रता के अमृत काल को नौटंकी कहने वाले मरकाम को अगर तिरंगे के सम्मान की सदबुद्धि आयी तो यह संतोष की बात है।

उन्होंने कहा कि जिस तिरंगे का सम्मान बचाने के लिए डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी बलिदान हो गए, ऐसी कांग्रेस आज तिरंगे की बात कर रही है, तो अच्छी बात है। मरकाम को जहां भी तिरंगा भेजना हो, शौक से भेजें, लेकिन एक चिट्ठी सोनिया गांधी और राहुल गांधी को भी भेजें। उनको याद दिलाएं कि कि तिरंगे के लिए प्राण न्यौछावर करने वाले स्वतंत्रता सेनानियों की दो हजार करोड़ की संपत्ति हड़पने का जो पाप किया है, उसका प्रायश्चित करते हुए स्वयं को कानून के हवाले कर दें।

Posted By: Pramod Sahu

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close