रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

लॉकडाउन के दौरान छत्तीसगढ़ कामधेनु विश्वविद्यालय दुर्ग अंजोरा के कुलपति डॉ. एनपी दक्षिणकर गोपालक की भूमिका में आ गए हैं। कैंपस स्थित गोशाला की गायों के लिए चारा, पानी की व्यवस्था वे खुद देख रहे हैं। मूलरूप से पशु डॉक्टर रहे दक्षिणकर की सुबह गोशाला में ही बीत रही है। उन्होंने बताया कि विवि बंद है, कर्मचारी छुट्टी पर हैं, ऐसे में इनकी देखभाल जरूरी है। इनके स्वभाव को पशु डॉक्टर से अधिक भला कौन जान सकता है।

कैंपर में बकरी और घोड़े भी

कैंपस की गोशाला में सौ से अधिक गाय, बछिया हैं। बकरी, मुर्गी, कड़कनाथ, घोड़ा आदि भी हैं। हालांकि चारा, पानी आदि कई व्यवस्थाएं मशीन आधारित हैं, लेकिन निगरानी जरूरी है। सुबह-दोपहर वे खुद देखरेख कर रहे हैं।

कैंपस में रहने का फायदा

डॉ. दक्षिणकर ने बताया कि शुरू से ही विवि कैंपस में रहने के कारण यहां के कार्यों को करीब दे देखा है, जिसका फायदा मिल रहा है। दूसरी ओर छात्रों का भी ख्याल रखना पड़ रहा है, ताकि उनकी पढ़ाई प्रभावित न हो। विभागाध्यक्षों के माध्यम से छात्रों को सोशल मीडिया से जोड़ा जा रहा है। प्रयास यही है कि सिलेबस पूरा हो जाए।

ईमेल के माध्यम जरूरी बैठक

अगामी शैक्षणिक सत्र की तैयारी शुरू हो गई है।

विवि के नए कॉलेज में इसी वर्ष से दाखिला होगा। ईमेल के माध्यम से जरूरी बैठक कर रहे हैं। डेयरी कॉलेज, छात्रों में नवाचार, रिसर्च आदि पर ईमेल के माध्यम से दिशा-निर्देश दिया जा रहा है।

---------

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना