रायपुर। Business News: स्टील उद्योगपतियों ने फैसला लिया है कि वे हर महीने सात दिनों के लिए उत्पादन बंद रखेंगे। इसके तहत स्टील उद्योगपति अपनी सुविधा के अनुसार लगातार सात दिन या शिफ्ट के अनुसार सात बंद रखेंगे। स्टील उद्योगपतियों का कहना है कि इस प्रकार के फैसले की सबसे बड़ी वजह तो यह है कि इस महीने से बिजली में मिलने वाली सब्सिडी बंद हो गई है।

इसके साथ ही आयरन ओर की बढ़ी कीमतों की वजह से बढ़ रही स्पंज आयरन की कीमतें है। इस प्रकार सात दिनों तक उत्पादन बंद होने से 25 से 30 फीसद उत्पादन प्रभावित होगा। स्टील उद्योगपतियों ने बताया कि इस महीने 15 अप्रैल से 22 अप्रैल तक बंद रखने का फैसला भी किया गया है और इन दिनों स्टील उद्योग बंद रहेंगे।

जानकारी के अनुसार, राजधानी रायपुर में सर्वाधिक 115 मिनी स्टील प्लांट हैं और 180 रोलिंग मिलें हैं। स्पंज आयरन उद्योगों की संख्या 76 है। बताया जा रहा है कि पिछले कुछ समय से स्टील प्लांट संचालकों की स्पंज आयरन वालों से कीमतों को लेकर नहीं जम रही है। छत्तीसगढ़ मिनी स्टील प्लांट एसोसिएशन के महामंत्री मनीष धुप्पड़ का कहना है कि स्पंज आयरन की कीमत अधिक होने से स्टील प्लांट को भी नुकसान हो रहा है।

स्पंज आयरन की कीमत अधिक होने के कारण स्टील की कीमतें भी अधिक होती है, लेकिन गोविंदगढ़ से कीमतें तय होने के कारण यहां के प्लांट को नुकसान उठाना पड़ रहा है। इसके चलते ही इस प्रकार से हर महीने सात दिनों का उत्पादन बंद रखने का फैसला किया गया है। छत्तीसगढ़ स्पंज आयरन एसोसिएशन के अध्यक्ष अनिल नचरानी ने कहा कि आयरन ओर की कीमतें इन दिनों काफी बढ़ रही है। एनएमडीसी लगातार इसकी कीमतें बढ़ा रहा है।

Posted By: Shashank.bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags