रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

जंगल सफारी का वीडियो जारी हो गया था। जंगल सफारी का वीडियो पूरे देशभर में वायरल हो गया था। वीडियो वायरल होने पर फिल्म अभिनेता रणदीप हुड्डा ने वीडियो को नेशनल जू एथॉर्टी को भेज दिया था। जिसको लेकर जंगल सफारी प्रबंधन को जबाब देना भारी पड़ गया था। घटना के बाद बुधवार को वनमंत्री मोहम्मद अकबर जंगल सफारी का औचक निरीक्षण पर पहुंच गए। वनमंत्री के आने की खबर सुनकर सफारी प्रबंधन में हड़कंप मच गया। मंत्री ने सफारी से लेकर निर्माणाधीन जू को देखा। इसके बाद उन्होंने अधिकारियों से गाड़ी का बाघ द्वारा पर्दा पकड़ने की खबर के बारे में जानकारी ली। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि जंगल सफारी का नाम खराब नहीं होना चाहिए। उन्होंने अधिकारियों को दोबारा इस तरह की घटना की पुनरावृत्ति ना हो इसके लिए निर्देश दिया है। इसके साथ ही उन्होंने जंगल सफारी में लंबित कामों को जल्द पूरा करने का निर्देश दिया है।

एशिया के सबसे बड़े मानव निर्मित जंगल सफारी में पिछले तीन माह के अंदर दो बड़ी घटनाएं घटी हैं। दिसंबर में जहां अचानक गाड़ी खराब हो गई तो शुक्रवार को गाड़ी का पर्दा नीचे गिरने का वीडियो वायरल हुआ है। इससे प्रबंधन सकते में आ गया है। उसके बाद प्रबंधन ने जंगल सफारी में ड्राइवर और गाइड की भर्ती के लिए ठेका जारी करने की बात कही थी। मंत्री के जंगल सफारी की खबर मिलते ही पूरे गांव वाले पहुंच गए। गांव वालों ने टेंडर प्रक्रिया ना करने की मांग की। इस पर उन्होंने टेंडर ना करने का निर्देश दिया है।

यह गाइड लाइन होगी जारी

सफारी प्रबंधन ने बताया कि पर्यटकों के लिए नई गाइड लाइन तैयार की जा रही है। वन्यजीवों के सफारी में जाते समय प्लास्टिक की बोतलें, पर्यटकों को शांति बनाए रखने, खाद्य पदार्थ न फेंकने, गाड़ी को ट्रैक पर ही चलाने, मोबाइल पर गाना न बजाने, कैमरे का फ्लैश न चमकाने जैसी बातें गाइड लाइन में शामिल होंगी।

वर्जन

जंगल सफारी में मंत्री ने भ्रमण कर वहां लंबित कामों को जल्द पूरा करने का निर्देश दिया है।

एम मर्शीवेला, डीएफओ, जंगल सफारी रायपुर

Posted By: Nai Dunia News Network