रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। बिरगांव नगर पालिका चुनाव को लेकर क्षेत्र में चुनावी सरगर्मी शुरू हो गई है। चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशी अभी से लोगों को विकास के सपने दिखाकर वोट अपने पक्ष में करने में लगे हैं। कई नए चेहरे पहली बार प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रूप से चुनाव की तैयारी में जुटे हैं। पिछले चुनाव में भाजपा और कांग्रेस के बीच सीधी लड़ाई थी, लेकिन इस बार जकांछ भी निगम चुनाव में मैदान में उतरकर ताल ठोंक रही है।

भाजपा और कांग्रेस पार्टी के प्रत्येक वार्ड से आधा दर्जन से अधिक दावेदार अपनी दावेदारी पेश कर रहे हैं। ऐसे में दोनों पार्टी के सामने टिकट वितरण काफी चुनौतीपूर्ण होगा। क्योंकि भाजपा और कांग्रेस पार्टी के दावेदारों को यदि टिकट नहीं मिलेगा तो वह जकांछ का दामन थाम सकते हैं।

ऐसेे में दोनों पार्टियों का चुनावी समीकरण बिगड़ सकता है। बता दें कि बिरगांव को नगर निगम का दर्जा वर्ष 2015 में मिला था। वर्ष 2015 में हुए निगम चुनाव में कांग्रेस 21, भाजपा के 13 पार्षद तथा छह निर्दलीय पार्षद चुनाव जीतकर आए थे। जिसमें से चार पार्षद कांग्रेस में प्रवेश कर चुके हैं।

मंगलवार को 13 ने दाखिल किया नामांकन

बिरगांव नगर पालिका के लिए मंगलवार को कुल 13 लोगों ने अपना नामांकन दाखिल किया है। बिरगांव नगर निगम के आयुक्त का कहना है कि प्रशासनिक स्तर से निगम चुनाव को लेकर सभी प्रकार की तैयारी कर ली है। नामांकन प्रक्रिया शुरु हो गई है।

बिरगांव के इस वार्ड में सबसे ज्यादा मतदाता

बिरगांव नगर निगम में इस बार 80,441 मतदाता है। जिसमें सबसे ज्यादा मतदाता 3,495 वार्ड-28 मो. अब्दुल रउफ वार्ड में है, इसमें 2,065 पुरुष मतदाता तो 1,430 महिला मतदाता है। सबसे कम मतदाता की बात करें तो वार्ड-39 सरदार वल्लभ भाई पटेल वार्ड में कुल 1,126 मतदाता है। जिसमें 532 पुरुष तो 594 महिला वोटर हैं।

दोनों पार्टियों की साख दांव पर

बिरगांव चुनाव में भाजपा जहां महापौर की कुर्सी की साख बचाने के लिए जी जान लगा देगी तो वहीं कांग्रेस इस बार कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहेगी। वहीं जकांछ भी पूरे दमखम के साथ पहली बार चुनाव मैदान में है। ऐसे में भाजपा और कांग्रेस पार्टी के लिए इस बार का चुनाव काफी महत्वपूर्ण होगा। नगर निगम का चुनाव ही आगामी विधानसभा चुनाव का भी भविष्य तय करेगा।

Posted By: Kadir Khan

NaiDunia Local
NaiDunia Local