रायपुर। ( नईदुनिया प्रतिनिधि ) Raipur Motor Training School News: छत्तीसगढ़ में सड़क हादसे पर लगाम लगाने के लिए कमर्शियल वाहन चालकों की ट्रेनिंग और उनको कंपनी में नौकरी दिलाने के लिए परिवहन विभाग द्वारा नवा रायपुर स्थित तेंदुआ में प्रशिक्षण केंद्र का निर्माण कार्य किया जाना है। मोटर ट्रेनिंग स्कूल का शुभारंभ दो साल पहले करना था, लेकिन अधिकारियों की लापरवाही के चलते अभी तक इसकी शुरुआत नहीं हो पाई है। शुरुआत न होने से जरूरतमंदों को इसका लाभ नहीं मिल पा रहा है। परिवहन विभाग के अधिकारी के मुताबिक सितंबर माह में इसकी शुरुआत कर दी जाएगी।

ज्ञात हो कि परिवहन विभाग द्वारा मोटर ट्रेनिंग स्कूल का निर्माण मारुति आटो मोबाइल कंपनी के साथ कर रहा है। परिवहन विभाग को इसे वर्ष 2019 तक शुरू करना था, जिससे यहां पर एक साथ 200 लोगों को कमर्शियल वाहन की ट्रेनिंग दी जा सके और उन्हें रोजगार मिल सके। मारुति कंपनी के चालकों द्वारा प्रशिक्षण दिया जाना है। इस ट्रेनिंग सेंटर में प्रदेश के कोने-कोने से लोग यहां आकर ट्रेनिंग ले सकेंगे। इसमें एलईडी के माध्यम से क्लास लेकर यातायात नियम की जानकारी दी जानी है, लेकिन दो साल बीत जाने के बाद विभाग अभी तक इसे शुरू नहीं कर पा रहा है। इसकी वजह है कि विभाग फंड की कमी का रोना रो रहा है।

17 करोड़ की लागत से बन रहा स्वचलित ट्रेनिंग स्कूल

नवा रायपुर स्थित तेंदुआ गांव के फेस टू में 20 एकड़ में 17 करोड़ की लागत से अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस मोटर ट्रेनिंग स्कूल का निर्माण किया जा रहा है। परिवहन विभाग इसका निर्माण मारुति आटोमोबाइल कंपनी के साथ मिलकर कर रहा है। 90 प्रतिशत काम हो चुका है। वर्ष 2019 के अंत तक इसे शुरू किया जाना था। इसमें करीब 200 लोग एक साथ ट्रेनिंग मिलेगी। मारुति कंपनी के विशेषज्ञ चालकों को प्रशिक्षण देंगे।

आठ आकृति वाले ट्रैक पर दी जानी है ट्रेनिंग

आरटीओ अधिकारी ने बताया कि यहां कमर्शियल वाहनों को चलाने जैसे बस, ट्रक चलाने के लिए 90 दिन की ट्रेनिंग दी जाएगी। नान कमर्शियल वाहनों को चलाने के लिए 21 दिन की ट्रेनिंग दी जाएगी। प्रशिक्षणार्थियों के लिए 80 कमरों का हास्टल बनाया जा रहा है। दूर-दराज से आने वाले अभ्यर्थी यहां रहकर ट्रेनिंग लेंगे। ट्रेनिंग देने के लिए आरटीओ और मारुति कंपनी के पांच-पांच कर्मचारी तैनात रहेंगे। ट्रेनिंग के बाद अभ्यर्थियों को ट्रैक पर चलाने के लिए गाड़ी मुहैया कराई जाएगी। आठ आकृति वाले ट्रैक, रिवर्स पार्किंग, पैनल पार्किंग का प्रशिक्षण दिया जाएगा।

इस संबंध में परिवहन विभाग अपर आयुक्त दीपांशु काबरा ने कहा कि मोटर ट्रेनिंग स्कूल के लिए फंड पास हो गया है। उसका काम भी चल रहा है। सितंबर तक इसे शुरू कर दिया जाएगा।

Posted By: Kadir Khan

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags