ज्ञान सिंह तुर्याकर, रायपुर। Navratri 2020: कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के कारण नवरात्रि पर इस बार कहीं पर भी बड़ा आयोजन नहीं हो रहा है। इसके बाद भी भक्तों की आस्था में कहीं कोई कमी नहीं है। सभी देवी मंदिरों में जोत जगमगा रही है। आइये इस नवरात्रि की पावन बेला में हम बात करते हैं बालोद जिले के गुरुर विकास खंड के ग्राम भूलनडबरी की , जहां एक पिता ने अपनी बेटी की याद में दुर्गेश धाम का निर्माण किया है। जहां हर साल बड़ी संख्या में माता दुर्गेश्वरी के दर्शन करने दूर-दूर से लोग पहुंचते हैं।

इस मंदिर के बारे में कहा जाता है कि आज से लगभग 25-30 साल पहले एक पिता मदनलाल कोरपे ने अपनी बेटी दुर्गेश की याद में में इस मंदिर का निर्माण किया है। मंदिर में काली, बजरंग बली, माता दुर्गेश्वरी की प्रतिमा के साथ दुर्गेश की भी प्रतिमा स्थापित है। पिता मदनलाल कोरपे राजस्व विभाग में रजिस्टर के पद पर कार्यरत थे जोकि अभी हाल में ही सेवानिवृत्त हुए हैं और माता गृहणी है। ग्रामीणों के अनुसार उनकी एक ही बेटी दुर्गेश थी।

यह परिवार अपनी बेटी से अत्यंत प्यार करते थे, लेकिन मात्र नौ साल की अल्पायु में ही दुर्गेश इस दुनिया को छोड़कर चली गई। दुर्गेश की मौत के बाद पिता को स्वपन आया कि, वह अपने गांव में विराजमान होना चाहती है। जब बार-बार पिता को यही स्वपन आने लगा तो उन्होंने गांव के लोगों से इस बात की चर्चा की। इसके बाद उन्होंने, जहां बेटी का अंतिम संस्कार किया था, वहीं मंदिर बनाने की ठानी, ताकि उनकी बेटी की यादें अमिट रहें। मंदिर निर्माण वाली जगह पर दुर्गेश की याद में रोज दीपक जलाना शुरू किया, इसके बाद धीरे-धीरे मंदिर का निर्माण किया।

भव्य मंदिर

इस मंदिर का निर्माण भव्य रूप में किया गया है, वहां एक पुजारी दिन भर माता की सेवा में लीन रहता है। तीन समय बराबर माता की आरती की जाती, जिसमें गांव के लोग शामिल होते हैं, वहीं नवरात्र पर मंदिर रौशनी से जगमगा उठती है। माता के दर्शन करने और मनोकामना की पूर्ति के लिए बड़ी संख्या में लोग यहां पहुंचते हैं।

मंदिर की देखरेख के लिए बनाई समिति

पिता मदनलाल ने मंदिर की देखरेख के लिए गांव के लोगों की ही एक समिति बनाई है। इसके सदस्य नियमित रूप से मंदिर में अपनी सेवा देते हैं। नवरात्रि में पिता मदनलाल कोरपे दिनभर डटे रहते हैं।

Posted By: Himanshu Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस