रायपुर। नईदुनिया, राज्य ब्यूरो। छत्तीसगढ़ के धुर नक्सल प्रभावित सुकमा जिले ने तरक्की की नई बुलंदियों को छुआ है। नीति आयोग की ओर से आकांक्षी जिलों के नवंबर 2019 की डेल्टा रैंकिंग जारी की गई। इसमें सुकमा ने देश के 115 आकांक्षी जिलों में प्रथम स्थान प्राप्त किया है।

स्वास्थ्य और पोषण वित्तीय समावेश और कौशल विकास आधारभूत अधोसंरचना, कृषि व जल संसाधन के मानक में सुधार आने से डेल्टा रैंकिंग के कंपोजिट स्कोर में सुकमा शीर्ष पर रहा है। वहीं, सुकमा ने स्वास्थ्य व पोषण में देश में दूसरा स्थान प्राप्त किया है।

इसी प्रकार वित्तीय समावेश व कौशल विकास में पाचवां, आधारभूत संरचना में आठवां स्थान डेल्टा रैंकिंग में सुकमा को दिया गया है। छत्तीसगढ़ के आठ नक्सल प्रभावित जिले आकांक्षी जिलों में शामिल है। यहां डेवलपमेंट इंडेक्स को लेकर केंद्र सरकार लगातार सर्वे कर रही है और उसमें सुधार के लिए काम कर रही है।

नीति आयोग ने देश के 115 जिलों की छह वर्गों के 49 मानक बिंदुओं पर रैंकिंग जारी की है। नीति आयोग द्वारा विकास के विभिन्न् मापदंडों के आधार पर देश के सर्वाधिक सुधार वाले आकांक्षी जिलों की नवंबर 2019 की डेल्टा रैंकिंग जारी की।

आकांक्षी जिलों में सामाजिक विकास के विभिन्न् क्षेत्रों में दर्ज की गई प्रगति के आधार पर नीति आयोग द्वारा रैंकिंग की गई है। सुकमा को प्रथम स्थान मिलने पर कलेक्टर चंदन कुमार ने इसे जिले के प्रगति की दिशा में एक ठोस शुरुआत बताया। चंदन ने कहा कि जनकल्याण के कार्यों की गति को निरंतर बनाए रखने की जरूरत है।

Posted By: Hemant Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस