रायपुर। (नईदुनिया प्रतिनिधि)। छत्‍तीसगढ़ के ड्राइविंग लाइसेंस धारकों के लिए बड़ी खबर है। दरअसल, छत्‍तीसगढ़ परिवहन विभाग ने अब क्यूआर कोड युक्त ड्राइविंग लाइसेंस और वाहन पंजीकर प्रमाण-पत्र (आरसी बुक) की सुविधा शुरू की है। यह सुविधा 19 मई गुरुवार से शुरू हो गई है। पहले दिन 200 से अधिक क्यूआर कोड युक्त लाइसेंस बनाए गए। इसमें लाइसेंसधारी की सारी जानकारी उपलब्ध है।

नए ड्राइविंग लाइसेंस और आरसी के क्यूआर कोड को इंटरनेट कनेक्शन वाले एंड्रायड मोबाइल से स्कैन कर लाइसेंसधारक, वाहन की सारी जानकारी मोबाइल पर देखी जा सकेगी। क्यूआर कोड वाले ड्राइविंग लाइसेंस पर व्यक्ति का मोबाइल नंबर दर्ज है, जिससे जरूरत पड़ने पर संपर्क किया जा सकेगा। लाइसेंस को प्लास्टिक कार्ड की जगह पाली कार्बोनेट कार्ड पर छापा जा रहा है, जो टूटेगा नहीं।

ज्ञात हो प्रदेश में 60 लाख ड्राइविंग लाइसेंस और 55 लाख आरसी बुक हैं। एक साल में करीब तीन लाख ड्राइविंग लाइसेंस बनते हैं। क्यूआर कोड युक्त लाइसेंस बनाने के लिए विभाग द्वारा वर्ष 2019 से कवायद की जा रही थी। लाइसेंस प्रिंट करने का काम करने वाली कंपनी अधिक पैसे मांग रही थी, इस कारण शुरुआत नहीं हो पा रही थी।

पिछली कंपनी का ठेका मई 2022 में खत्म हुआ, जिसके बाद विभाग ने इस काम का जिम्मा कर्नाटक की एमसीटी कार्ड्स एंड टेक्नोलाजी प्राइवेट लिमिटेड नामक कंपनी को 10 साल के लिए सौंपा। इस कंपनी द्वारा 17 मई से क्यूआर कोड युक्त लाइसेंस बनाने का काम शुरू किया जाना था, लेकिन विभागीय तैयारी पूरी नहीं हो पाने की वजह से दो दिन बाद शुरू हुआ।

रायपुर के क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी शैलाभ साहू ने कहा, क्यूआर कोड युक्त लाइसेंस गुरुवार से बनना शुरू हो गया है। लाइसेंसधारी की सारी जानकारी इसमें उपलब्ध रहेगी।

क्यूूआर कोड में मिलेंगी ये जानकारियां

- लाइसेंसधारी का नाम।

- माता-पिता का नाम पता, जन्म तिथि, शैक्षणिक योग्यता, पहचान चिह्न।

- लाइसेंस जारी करने की तिथि, वैधता तिथि।

- निर्माणकर्ता अधिकारी का नाम।

- अंगदान के विकल्प सहित 50 से अधिक जानकारियां।

-इसी प्रकार आरसी में वाहन से संबंधित सारी जानकारी रहेगी।

Posted By: Ashish Kumar Gupta

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close