रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

विवेकानंद आश्रम तिराहे के पास स्थित वंदना ऑटो के संचालक ने नगर निगम के साथ धोखाधड़ी की है। बीते साल निगम ने जांच के दौरान पाया था कि संचालक पार्किंग में नई गाड़ियां रख रहा है। वहीं निगम जोन पांच टीम ने पार्किंग को सील कर दिया। निगम अफसरों को अंदेशा हुआ कि आखिर संचालक सील खुलवाने क्यों नहीं आ रहा है? इसी अंदेशे पर जोन आयुक्त के निर्देश पर उपअभियंता सैय्यद जोहेब बुधवार को जांच करने पहुंचे। वे हैरान रह गए। पार्किंग के जिस गेट को सील किया गया था, उसमें तो सील लगा हुआ था। लेकिन संचालक ने दीवार फोड़कर दूसरा गेट बनावा लिया था। पार्किंग में बदस्तूर नई गाड़ियां रखी जा रही थी और गाड़ियों का लाना ले-जाना हो रहा था। इस पर आला अफसरों के निर्देश पर दूसरा गेट भी सील कर दिया गया है।

शहर में इससे पहले बहुत कम ऐसे मामले आए, जब बड़ी ऑटो मोबाइल एजेंसी ने निगम को धोखे में रखा। कार्रवाई के बाद भी पार्किंग को पार्किंग की तरह इस्तेमाल करने की बजाए उसे नई गाड़ियों का गोदाम बना दिया। सब इंजीनियर ने संचालक अनिल अग्रवाल को चेतावनी भी दी है कि वे जल्द से जल्द जुर्माना भरें। वहीं उन्हें पार्किंग को पार्किंग की तरह इस्तेमाल करने के निर्देश दिए। निगमायुक्त शिव अनंत ताल ने सभी जोन आयुक्तों को निर्देशित किया है कि वे अपने-अपने जोन के ऐसे सभी स्थलों का निरीक्षण करें, जिन्हें सील तो किया गया लेकिन मालिक ने जुर्माना नहीं अदा किया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket