रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। श्री नाकोड़ा भवन पचपेड़ी नाका में साध्वीवर्या विजयप्रभाश्रीजी एवं साध्वी चंदनबालाश्रीजी की निश्रा में सोमवार को गुरुवर्या चंद्रप्रभाश्रीजी के पदारोहण दिवस की स्मृति में गुरु अभिवंदना समारोह आयोजित किया गया। श्रद्धालुओं ने श्रद्धासुमन समर्पित करने सामूहिक सामायिक किया।

साध्वी चंदनबाला ने कहा कि शिल्पी जिस तरह अनगढ़ पत्थरों को छैनी से प्रतिमा का रूप देते हैं, वैसे ही गुरुवर्या ने साध्वीमंडल को शिक्षित व अनुशासित किया। जिनकी महामांगलिक में 25 से 30 हजार व्यक्ति बड़ी श्रद्धा-आस्था और विश्वास के साथ सुनकर आधि-व्याधि-उपाधि से मुक्त होकर संकल्प की सिद्धि को प्राप्त करते थे। ऐसी महान व्यक्तित्व की धनी आज हमारे बीच नहीं है, किंतु तप बल, जप बल, ज्ञान बल, चारित्र बल एवं सरलता, सहजता, सौम्यता, वात्सल्यता आदि गुणों के रूप में आज भी हमारे समक्ष विद्यमान हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस