रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)।

कन्फेडरेशन आफ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने आनलाइन कंपनियों पर निशाना साधने हुए कहा है कि ये कंपनियां नियमों का उल्लंघन कर रही हैं। एफडीआइ पालिसी का ये कंपनियां पालन नहीं कर रही हैं। इस संबंध में कैट ने केंद्रीय वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल को पत्र लिखा है। कैट के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी व प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष विक्रम सिंहदेव ने बताया कि पत्र में कहा गया है कि इन ई कामर्स कंपनियों पर लगाम लगाना जरूरी है। वर्तमान एफडीआइ पालिसी के नियम के अनुसार मल्टी ब्रांड रिटेल में किसी भी प्रकार की विदेशी कंपनी को निवेश की मंजूरी नहीं है। साथ ही किसी भी विदेशी कंपनी अथवा विदेशी स्वामित्व वाली ई कामर्स कंपनी को भारतीय ई कामर्स पर पोर्टल द्वारा इनवेंटरी को नियंत्रित करने की इजाजत भी नहीं है। इसके बावजूद देश में इन नियमों का खुलेआम उल्लंघन हो रहा है। उन्होंने कहा कि छोटे व्यापारियों के हितों की सुरक्षा के लिए मल्टीब्रांड रिटेल ट्रेड में एफडीआइ को सरकार ने प्रतिबंधित किया है, जिसमें खाद्य पदार्थ भी शामिल हैं। ये साफ है कि अब खाद्य पदार्थों के मल्टीब्रांड रिटेल ट्रेड में भी विदेशी निवेश की पुरजोर कोशिशें की जा रही हैं, जो कि बिजनेस टू कंस्यूमर्स रिटेल ट्रेड का प्रमुख अंग है। इन कंपनियों पर लगाम लगाना जरूरी है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस