रायपुर। Chhattishgarh News: राजधानी समेत प्रदेशभर में उत्तर दिशा से शुष्क और ठंडा हवा आने के कारण अचानक मौसम का मिजाज बदल गया है। लोग पिछले सालों की तुलना में नवंबर के आखिरी पखवाड़े में अधिक ठंड महसूस कर रहे हैं। बतादें कि दो दिन के भीतर रायपुर का न्यूनतम तापमान 15.6 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया है। करीब सात डिग्री सेल्सियस रायपुर का तापमान गिरने के कारण रात में ठंड का अहसास अधिक होने लगा है। वहीं रायपुर का अधिकतम तापमान 29.6 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया है।

पर्यावरणविदों का कहना है कि इस साल लाकडाउन और कोरोना के कारण प्रदूषण भी कम रहा है। इसकी वजह से थोड़ी सी भी नमी होने से हवा में ठंडक बढ़ रही है। विशेषज्ञों का मानना है कि हवा में जब प्रदूषण अधिक होता है तो हवा में मौजूद कार्बन के कण्ा सूरज की रोशनी को अवशोषित कर लेते हंै इससे हवा भी गर्म हो जाती है। इस साल प्रदूषण पहले की तुलना में कम है इसकी वजह से कार्बन के कणों की संख्या कम है और सूरज की रोशनी से ये गर्म हो तो रहे हैं लेकिन वे प्राकृतिक नमी के कारण ठंड के अहसास को कम नहीं कर पा रहे हैं। लिहाजा, इस साल ठंड का अहसास अधिक हो रहा है।

आज और गिरेगा पारा

मौसम विज्ञानियों के मुताबिक आने के कारण न्यूनतम तापमान में मंगलवार को दो से तीन डिग्री सेल्सियस गिरावट होने की संभावना है। 25 नवंबर से हवा की दिशा दक्षिण पूर्व होने के कारण, प्रदेश के दक्षिणी भाग में दक्षिण पूर्व से बंगाल की खाड़ी से आने वाली हवा के कारण बादल आने और साथ ही बस्तर संभाग किया उससे लगे हुए जिलों में हल्की बारिश होने की संभावना है । 26 नवंबर को प्रदेश के मध्य और दक्षिण क्षेत्र में हल्की से मध्यम वर्षा होने अथवा गरज चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। प्रदेश के सरगुजा संभाग में गरज चमक के साथ छींटे पड़ सकते हैं। 27 नवंबर को प्रदेश के दक्षिणी भाग में हल्की वर्षा होने अथवा गरज चमक के साथ छींटे पड़ सकते हैं।

रायपुर में इस साल ऐसे कम रहा लगातार प्रदूषण

लाकडाउन के चलते रायपुर शहर के प्रदूषण के स्तर में जबरदस्त गिरावट दर्ज की गई थी। पं. रविशंकर शुक्ल विवि की रसायन अध्ययनशाला की ओर से एक अध्ययन में पाया गया कि रायपुर में पीएम 2.5 का मान लाकडाउन से पहले सर्वाधिक था और लाकडाउन के दौरान यह 70 प्रतिशत तक नीचे चला गया था। अभी ठंड के दिनों में भी पिछले सालों की तुलना में पारा कम है।

लाकडाउन से पहले शहर में प्रदूषण

दिनांक पीएम 2.5 का मान

18 जनवरी 20020 241.67

25 जनवरी 2020 294.44

लाकडाउन के दौरान

दिनांक पीएम 2.5 का मान

13 मई 2020 69.86

17 मई 2020 82.75

21 मई 2020 81.92

अब रायपुर में प्रदूषण का स्तर

दिनांक पीएम 2.5 का मान

18 अक्टूबर 2020 127.66

25 अक्टूबर 2020 196.19

नोट- पं. रविशंकर शुक्ल विवि की रसायन अध्ययनशाला की ओर से पीएम 2.5 का मान कबीर नगर में इस तरह मापा गया, केंद्रीय प्रदूषण बोर्ड के मुताबिक इसका मान 40 माइक्रोग्राम प्रति मीटर क्यूब होना चाहिए।

एक्सपर्ट व्यू

हवा के कण में जो कार्बन है वह सूरज की रोशनी को अवशोषित कर लेते है इससे हवा भी गर्म हो जाती है। इस साल प्रदूषण पहले की तुलना में कम है इसकी वजह से हवा के कणों में कार्बन की मात्रा कम होने ठंड का अहसास ज्यादा हो रहा है। - डा शम्स परवेज, पर्यावरणविद

Posted By: kunal.mishra

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस