रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले की 126 प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों द्वारा संचालित 138 उपार्जन केंद्रों में से 133 केंद्रों में धान खरीदी के दौरान 28 और 29 दिसंबर 2021 को हुए बेमौसम बारिश से 8109 टन धान आंशिक रूप से भीग गया था। उपार्जन केंद्र प्रभारियों द्वारा आंशिक रूप से भीगे धान को सुखाकर एवं बोरियों की पल्टी कराकर धान का निराकरण किया जा चुका है। जिला सहकारी केंद्रीय बैंक मर्यादित रायपुर के मुख्य कार्यपालन अधिकारी एसके जोशी ने बताया कि माह दिसंबर में हुए बेमौसम बारिश में प्रभावित धान से सहकारी समिति या राज्य सरकार को कोई नुकसान नहीं हुआ है।

हालांकि बारिश में खरीदी केंद्रों में धान भींगने पर खाद्य मंत्री अमरजीत भगत ने निरीक्षण के दौरान छह जिलों के कलेक्टरों और समिति प्रबंधकों को नोटिस जारी किया था। मंत्री ने कहा खरीदी केंद्रों में पर्याप्त कैंप कवर की व्यवस्था नहीं किए जाने से धान भीग गया था। वहीं किसानों का भी खलिहान में रखा धान भीग गया था।

पार्षद ने श्रमदान कर 30 लाख के विकास कार्यों को किया शुभारंभ

शहीद हेमू कालाणी वार्ड 28 के पार्षद बंटी होरा अंतर्गत आने वाले देवेंद्र नगर सेक्टर-1, सेक्टर-2 व सेक्टर-4 में श्रमदान कर 30 लाख के विकास कार्यों का शुभारंभ किया। पार्षद बंटी ने कहा कि गुणवत्ता और सुरक्षा के साथ नाली की गहराई बढ़ाने ठेकेदार को निर्देशित किया। साथ ही साथ वार्ड में नुक्कडों को खत्म करने का प्रयास कर उसी जगहों पर सौंदर्यकरण कार्य करवाया जा रहा है। इससे नुक्कड़ भी समाप्त होंगे और सौंदर्यकारण भी रहेगा।

Posted By: Sanjay Srivastava

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close