रायपुर। Health News: टीबी या क्षय रोग नियंत्रण कार्य क्रम के तहत स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के द्वारा लोगों की जांच कराई जा रही है। छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग से मिली जानकारी के अनुसार, वर्ष 2019 में कराए गए सर्वे में प्रदेश में लगभग 43 हजार टीबी मरीज पाए गए थे। अभी चल रहे सर्वे में दो लाख 23 हजार लोगों की जांच की जा चुकी है, जिसमें महज 34 टीबी के मरीज पाए गए हैं।

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अधिकारियों का कहना है कि छत्तीसगढ़ की तरह दूसरे राज्यों में भी टीबी के मरीज कम हुए हैं। छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग की संचालक डॉ. प्रियंका शुक्ला ने बताया कि प्रदेश में जितने भी टीबी के मरीज मिले हैं, उन सभी का उपचार शुरू कर दिया गया है।

मास्क और दूरी ने घटाए टीबी के मरीज

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अधिकारियों का कहना है वर्ष 2020 में कारोना काल के दौरान लोगों ने मास्क का उपयोग किया और एक-दूसरे से शारीरिक दूरी भी बनाए रखी। इस कारण टीबी के संक्रामण से बचाव हुआ।

जोखिम वाले क्षेत्रों में विशेष ध्यान दिया जा रहा

छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग की संचालक डॉ. शुक्ला ने बताया कि प्रदेश में जनवरी 2021 से शुरू हुए इस अभियान के तहत अब तक विभिन्न जिलों के 11 हजार श्रमिक मलिन बस्तियों के एक लाख 89 हजार 276 लोगों, वृद्धाश्रमों में रहने वाले 790 बुजुर्गों और 289 स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं की जांच की गई है। इस तरह राज्य में कुल दो लाख 23 हजार 955 लोगों की जांच की जांच हो चुकी है। जोखिम वाले क्षेत्रों में विशेष ध्यान दिया जा रहा है।

Posted By: Shashank.bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags