फोटो

00 लोकसभा में विधेयक रखे जाने पर जंतर-मंतर में करेंगे बड़ा प्रदर्शन

रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

पदोन्नति में आरक्षण देने की नीति के विरोध में छत्तीसगढ़ सर्वहित संघ ने धरना-प्रदर्शन करते हुए पदोन्नति में आरक्षण नहीं देने की आवाज बुलंद की। छत्तीसगढ़ सर्वहित संघ के संकल्प धरना में प्रदेशभर के सैकड़ों अधिकारी, कर्मचारी और शिक्षक शामिल हुए। धरने में आरक्षण के मामले में सुप्रीम कोर्ट के निर्णय को लागू नहीं करने पर अधिकारियों-कर्मचारियों का गुस्सा फूटा। अधिकारियों ने कहा कि सरकार वोट बैंक की राजनीति के कारण संविधान संशोधन करके सामान्य वर्ग के उम्मीदवारों के हितों को खत्म करना चाहती है। संघ के पदाधिकारियों ने साफ किया कि वे किसी जाति या वर्ग के खिलाफ नहीं हैं, बल्कि उस राजनीतिक गठजोड़ का विरोध कर रहे हैं, जो सामान्य वर्ग के कर्मचारियों के हितों की अनदेखी करने पर आमादा है।

संघ ने मांग की कि सुप्रीम कोर्ट ने जो निर्णय दिया है, राजनीतिक ताकत के आधार पर न्याय का गला घोटना बंद हो। संघ के महासचिव आशीष अग्निहोत्री, शैलेन्द्र दुबे ने बताया कि पदोन्नति में आरक्षण देने की केन्द्र सरकार की नीति के विरोध में राष्ट्रव्यापी अभियान चलाया जा रहा है। संसद के मानसून सत्र के दौरान दिल्ली में जंतर मंतर पर प्रदर्शन किया जाएगा। प्रदर्शनकारियों ने चेतावनी दी है कि यदि केन्द्र सरकार ने सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय को निष्प्रभावी कर पदोन्नति में आरक्षण बहाल करने की कोशिश की तो इसके गंभीर परिणाम होंगे। वक्ताओं ने कहा कि अगर राजनीति हमारा भविष्य तय करेगी, तो हम भी राजनीति का भविष्य तय कर देंगे। धरना में वीरेंद्र पांडेय, विवेक अवस्थी, स्वाती तिवारी और विनय पांडेय सहित अन्य मौजूद थे।

17 मृग 06

9.11

सं. आरकेडी

Posted By: