रायपुर,राजनांदगांव। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में जहां जुआरियों के बीच हुई आपसी विवाद में एक युवक की चाकू मारकर हत्या कर दी गई। वहीं राजनांदगांव में एक युवक को बाप की हत्या के आरोप में पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार राजधानी रायपुर में बीती रात जुआरियों ने शराब के नशे में अपने ही दोस्त की चाकू घोंपकर हत्या कर दी। हत्या जुआ खेलने के दौरान विवाद के चलते हुई है।

मामला देवेंद्रनगर इलाके के होटल पुनीत के पीछे गंगानगर का है। मृतक 24 वर्षीय प्रिन्स अग्रवाल मोवा का रहने वाला था। वह पंडरी में कपड़े की दुकान में काम करता था । बीती रात काम से छुट्टी होने के बाद अपने दोस्तों के साथ पुनीत होटल के पीछे जुआ खेल रहा था।

जुआ खेलने के दौरान मृतक प्रिन्स का अपने दोस्तों के साथ किसी बात को लेकर जमकर विवाद हुआ। आरोपियों ने शराब पी रखी थी, इस दौरान प्रिन्स पर चाकू से ताबड़तोड़ हमला कर दिया। हमला देख जुआ खेल रहे बाकी लोग वहां से भाग निकले।

आरोपियों ने प्रिन्स को लहूलुहान हालात में छोड़कर भाग गए। घटना जिस जगह हुई है, वहां से देवेंद्रनगर थाना कुछ ही दूरी पर है। घटना के बारे में पुलिस को सूचना सुबह मिली। आरोपी दुर्गानगर इलाके के हैं। पुलिस आरोपियों की तलाश की रही है।

इधर, बेटे ने शराब की लत से परेशान होकर कर दी बाप की हत्या

राजनांदगांव के गातापारकला में बहल राम निषाद अपनी पत्नी,पुत्र महेंद्र,पुत्री ज्योति तथा पुत्र वधू के साथ रहता था। 14 अक्टूबर को बहल राम अपनी पत्नी तथा बेटी ज्योति के साथ ग्राम शिवपुरी अपनी बड़ी मां के घर गया था। 15 अक्टूबर को दोपहर साढ़े तीन बजे वापस आए ।

मृतक की पत्नी,पुत्री तथा पुत्र वधू गांव में ही छोटे भाई रेवाराम के यहां बैठने चले गए। घर में बहल राम निषाद तथा बेटा महेंद्र निषाद दोनों थे। शाम पौने छह बजे जब मृतक की पत्नी, पुत्री और पुत्र वधू घर वापस आए तब बेटी ज्योति ने अपने पिता को खाट पर मृत हालत में पड़े देखा। सिर पर गंभीर चोट के निशान थे। खाट और फर्श पर खून पड़ा था। पुलिस को सूचना दी गई। परिजनों को बताया।

इस बीच सूचना मिलते ही थाना प्रभारी ने मौके पर पहुंचकर मृतक के भाई रेवाराम की रिपोर्ट पर मर्ग कायम कर जांच शुरू की। पीएम रिपोर्ट मिलने पर भादवि की धारा 302 के तहत पंजीबद्घ किया गया । मृतक बेटा 24 वर्षीय बेटा महेंद्र कुमार निषाद ने पिता के शराब की लत से परेशान होकर उसकी हत्या कर दी।

महेंद्र जन्म से ही गूंगा-बहरा है। हत्या करने के बाद स्कूटी से घर के बाहर निकल गया। संदेही महेंद्र के फुलपेंट-शर्ट और पैर में खून के धब्बे थे। इससे संदेह के आधार पर आस्था मूक बधिर विद्यालय राजनांदगांव से इंटरप्रेटर मिलाकर पूछताछ की गई। इशारों में उसने स्वीकार किया कि उसका पिता रोजाना शराब पीकर रुपये उड़ा देता था। समझाने के बाद भी नहीं मानता था। जिससे परेशान होकर सिर पर वार करके मार दिया। पुलिस ने आरोपित पुत्र को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket