रायपुर। Online Discussion: 'काव्यांगन' साहित्यिक मंच रायपुर ने सोमवार को आनलाइन परिचर्चा का आयोजन किया। विषय था- पावस का प्राकृतिक सौंदर्य। इस विषय पर मंच से जुड़े सदस्यों ने अपने विचार व्यक्त किए। उल्लेखनीय है कि वाट्सएप ग्रुप के इस मंच से देश के कोने-कोने से साहित्यकार जुड़े हुए हैं। आज के कार्यक्रम की मुख्य-अतिथि देश की जानी-मानी कवयित्री डा. अंजना सिंह सेंगर, नोएडा रहीं। वहीं अध्यक्षता सुप्रसिद्ध साहित्यकार प्रो. शरद नारायण खरे, मंडला ने की।

विशिष्ट अतिथि डा. सुशील कुमार शर्मा, नागपुर और सीएस अकेला, उंचेहरा सतना ने की। कुशल संचालन का दायित्व प्रदीप सेनगुप्ता रायपुर ने निभाया। कार्यक्रम में प्रतिभागियों ने पावस के प्राकृतिक सौंदर्य का वर्णन तो किया ही, समस्याएं भी उठाईं। दिल्ली की कामना मिश्रा ने कहा कि बरसात में सड़कें खराब हो जाती हैं, साफ-सफाई की दिक्कत आती है।

उन्होंने कहा कि प्रशासन के साथ जनता भी अपना दायित्व समझें और साफ-सफाई में सहयोग करें। कानपुर से रंजना मिश्रा, अंबिकापुर से अनिता मंदिलवार, पूनम दुबे, मंशा शुक्ला, भोपाल से रश्मि मिश्रा ने अपने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम के मार्गदर्शक डा. बृजेंद्र वैद्य, रायपुर ने सभी के विचारों की सराहना की तथा सतत लेखन की धार तेज करने का मार्ग दिखाया। मुख्य-अतिथि डा.अंजना सिंह सेंगर ने सभी को शुभकामनाएं दीं तथा अपनी बरखा विषयक कविताओं का रसास्वादन कराया। कार्यक्रम शाम सात बजे शुरू हुआ, जो देर रात तक चलता रहा।

Posted By: Azmat Ali

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags