रायपुर। Online Banking Fraud : छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के अवंती विहार कालाेनी में डॉक्टर दंपत्ति की बुजुर्ग मां ठगी की शिकार हो गई। उसके साथ हुई लाखों की ठगी के मामले में पुलिस ने तत्परता से कार्रवाई की और बैंक खाते से उड़ाए गए पैसों को 72 घंटे के भीतर रिकवर कर वापस लौटा दिया। डॉक्टर दंपत्ति की बुजुर्ग मां द्वारा पुलिस में दर्ज कराई गई शिकायत के अनुसार उन्हें आइडिया कंपनी के नाम से एक फोन आया। फोन करने वाले ने उन्हें कहा कि उनका यह सिम बंद होने जा रहा है। अब उन्हें 4G सिम दिया जाएगा। फोन करने वाले ने उन्हें एक सिम नंबर देकर उसे मैसेज करने के लिए कहा।

मैसेज फेल होने के बाद आरोपी ने पुनः फोन कर उनसे उनके बैंक एकाउंट सहित सभी डिटेल मांग ली और कहा कि नया नंबर बैंक खाते में लिंक्ड करना है। इसके लिए उनके पास ओटीपी आएगा। उसे उन्हें बताना है। महिला के पास दो बार ओटीपी नंबर आया जिसे उन्होंने फोन करने वाले व्यक्ति को यह सोचकर बता दिया कि उनका बैंक खाता नए नंबर से लिंक हो जाएगा।

इसके बाद उनके खाते से 7 लाख 70 हजार रुपये कट गया। बिना विलंब किए इसकी पुलिस में शिकायत की गई। शिकायत के बाद सायबर सेल ने तुरंत कार्रवाई करते हुए खाते से उड़ाए गए 7 लाख 70 हजार रुपयों को रिकवर कर लिया। बताया जा रहा है कि शातिर ठगों ने उनके आईसीआईसीआई बैंक से अपने तमिलनाडु और ओडिशा के एसबीआई बैंक खाते में ट्रांसफर कर लिया था।

जिसे समय रहते जानकारी मिल जाने पर त्वरित ट्रांजक्शन रोककर कार्रवाई की गई। छत्तीसगढ़ में पहली बार इतनी बड़ी रकम को पुलिस ने इतने कम समय में रिकवर करने में सफलता हासिल की है। यह सायबर सेल के लिए भी एक तरह से नया अनुभव था। ऑनलाइन फ्राड करने वालों से जनसामान्य को सतर्क करते हुए कहा गया है कि अनजान व्यक्ति को अपना पर्सनल डिटेल देने से बचें।

Posted By: Anandram Sahu

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना