रायपुर। छत्‍तीसगढ़ में एक दिसंबर से धान खरीदी शुरू हो गई है। बुधवार को दतरेंगा धान खरीदी केंद्र में सुबह से खरीदी शुरू हो गई। दतरेंगा खरीदी केंद्र में अभी तक 16 किसानों ने 384 क्विंटल धान बेचा है। वहीं धमतरी जिले के कुर्रा बागतराई खरीदी केंद्र में पूजा अर्चना कर समर्थन मूल्य में धान खरीदी की शुरुआत की गई। वहीं मंत्री अमरजीत भगत मंदिर हसौद के धान खरीदी केंद्र पहुंचकर खरीदी का शुभारंभ किया। अधिकांश किसान बरदाना लेकर खरीदी केंद्रों में नहीं आए हैं। वहीं सेजबहार के धान खरीदी केंद्र में भी धान बेचने काफी संख्या में किसान पहुंचे।

किसानों को जारी होगा 15 दिन तक का एडवांस टोकन

धान बेचने के लिए सीमांत, लघु और बड़े किसानों को पात्रता के अनुसार 15 दिवस अग्रिम तक का टोकन कानून व्यवस्था की स्थिति व कोविड प्रोटोकाल को ध्यान में रखते हुए जारी किया जाए। इस संबंध में खाद्य विभाग ने मंगलवार को आदेश्ा जारी कर दिया है। समिति में रविवार से शुक्रवार तक सुबह 9.30 बजे से शाम पांच बजे तक टोकन जारी किया जाए।

कस्टम मिलिंग के लिए राइस मिलर्स का होगा आटो पंजीयन: मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल मंगलवार की शाम को अपने निवास कार्यालय में छत्तीसगढ़ प्रदेश राइस मिलर्स एसोसिएशन के पदाधिकारियों, खाद्य एवं सहकारिता विभाग के अधिकारियों की संयुक्‍त बैठक ली। मुख्यमंत्री ने प्रदेश में एक दिसंबर से समर्थन मूल्य पर शुरू हो रही धान खरीदी की तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने मिलर्स एसोसिएशन के आग्रह पर कस्टम मिलिंग के लिए राज्य में आटो पंजीयन की व्यवस्था तत्काल शुरू करने के निर्देश अधिकारियों को दिए।

मुख्यमंत्री से राइस मिलर्स एसोसिएशन के पदाधिकारियों द्वारा धान के उठाव एवं मिलिंग की कार्य योजना, बारदाने के मूल्य में वृद्धि सहित अन्य महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा की गई। बैठक में छत्तीसगढ़ राइस मिलर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष कैलाश रूंगटा, महासचिव प्रमोद अग्रवाल, सलाहकार सचिव मोहन लाल अग्रवाल सहित सदस्यगणों ने मुख्यमंत्री से धान की कस्टम मिलिंग में प्रति क्विंटल प्रोत्साहन राशि वृद्धि का आग्रह किया।

Posted By: Kadir Khan

NaiDunia Local
NaiDunia Local