रायपुर। पूर्व मंत्री और भाजपा प्रदेश प्रवक्ता राजेश मूणत ने कांग्रेस सरकार पर सिटी बस सेवा को लेकर निशाना साधा। उन्होंने सवाल उठाया कि दो साल से बंद सिटी बस सेवा कब बहाल होगी? उन्होंने आरोप लगाया कि की राजधानी वासियों को सुविधा को बंद कर आम यात्रियों की जेब पर अतिरिक्त भार क्यों डाला जा रहा है? बस संचालन के टेंडर में क्यों लेटलतीफी हो रही है?

उन्होंने कंहा की आम जनता को सब समझ आ रहा है कि महापौर के निर्देश के बाद भी अधिकारी टेंडर नही जारी कर पा रहे है। श्री मूणत ने कंहा की पूर्ववर्ती भाजपा सरकार ने प्रदेश के सभी नगरीय निकायों में सिटी बस सेवा प्रारंभ की थी, मगर कांग्रेस सरकार ने इस सेवा का भी ना तो ठीक से संचालन कर पाई और ना ही पुरानी सेवा को अनवरत जारी रख पाई, जबकि लाखो लोग सिटी बस सेवा का रोज उपयोग करते थे।

उन्होंने सरकार पर सिटी बस सेवा जनता से छीनने का आरोप लगाते हुए कंहा की साढ़े 3 साल में इस सरकार ने केवल आम नागरिकों की तकलीफ ही बढ़ाई है, एक भी कार्य जनता के हित मे नही किया। मूणत ने यह भी आरोप लगाया कि शहर विकास के नाम पर कांग्रेस की सरकार ने एक ईंट तक नही रखी। केंद्र सरकार से मिली स्मार्ट सिटी की राशि का केवल दुरूपयोग किया, उसमें भी अधिकांश काम कमीशन की भेंट चढ़ गया।

मूणत ने कहा की लंबे समय से बंद ये सभी बसें आमानाका बस डिपो में कंडम स्थिति में खड़ी हैं। बस ऑपरेटर की मांग थी कि 2 साल से खड़े बस के टैक्स में शासन छूट दे। इसी के साथ किराए में वृद्धि की मांग भी वे कर रहे थे। मगर सरकार इस मामले में भी अनिर्णय की हालत में है, आखिर क्यों सरकार राजधानी में सस्ते परिवहन सुविधा से नागरिको को वंचित कर रही है?

Posted By: Pramod Sahu

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close