रायपुर। Lockdown In Raipur: सुबह होते ही शहर के प्रमुख सब्जी, किराना और अनाज बाजारों में होली, दीवाली और ईद जैसे त्योहारों की तरह जबरदस्त भीड़ रही। चारों तरफ अफरा-तफरी का माहौल और आलू, प्याज और टमाटर जैसे प्रमुख सब्जियों के भाव आसमान में रहे। कालाबाजारी से पूरा बाजार जकड़ा रहा और दिनभर लोगों की जेब कटी। इधर, प्रशासन का नियंत्रण पूरी तरह से फेल रहा।

जी हां, कोरोना के बढ़ते प्रभाव के चलते शुक्रवार शाम से रायपुर में लगाए जाने वाले 10 दिनों के लाकडाउन का असर गुरुवार को सब्जी बाजारों में कुछ ऐसा ही दिखा। सुबह से ही राजधानी के सब्जी बाजारों में खरीदारों की भीड़ उमड़ पड़ी। कालाबाजारी को रोकने के लिए जिला प्रशासन ने जो भी व्यवस्था की वह ध्वस्त दिखी। व्यापारियों की मानें तो सप्ताहभर की खरीदारी एक ही दिन में हो गई। 10 करोड़ स्र्पये के करीब किराना और राशन ही बिक गए। कई जगहों पर मैगी, सूजी, बिस्किट, आटा आदि का स्टाक खत्म हो गया।

कोरोना की गाइडलाइन की उड़ी धज्जियां

खरीदारी करने उतरी इस ताबड़तोड़ भीड़ में शारीरिक दूरी के नियमों की तो धज्जियां ही उड़ गईं। दस दिनों तक फल, सब्जियां न मिलने को देखते हुए सब्जियों की पर्याप्त आवक होने के बाद भी कीमतों में जबरदस्त तेजी आ गई। बीते 24 घंटे पहले जो टमाटर 10 रुपये किलो मिल रहा था। वहीं टमाटर गुरुवार को 40 से 60 रुपये किलो तक बिका। साथ ही थोक में 100 रुपये कैरेट में बिकने वाला टमाटर 600 रुपये कैरेट बिका। टमाटर के साथ ही दूसरी सब्जियों के दाम भी आसमान पर पहुंच गए।

इन बाजारों में पांव रखने के लिए नहीं थी जगह

शहर के प्रमुख बाजारों में गोलबाजार, भाटागांव, आमापारा से लेकर डूमरतराई थोक सब्जी बाजार में सुबह से ही लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। बुधवार तक 40 रुपये किलो में मिलने वाली भिंडी 80 रुपये किलो, गोभी 60 से 70 रुपये किलो, पत्ता गोभी 40 से 50 रुपये किलो, गवारफल्ली 60 रुपये किलो तक बिकी। शुक्रवार सुबह भी सब्जी बाजारों में इसी तरह की रौनक रहने की उम्मीद है। थोक सब्जी व्यावसायी संघ के अध्यक्ष टी श्रीनिवास रेड्डी ने बताया कि सब्जियों की आवक तो पर्याप्त हुई है, लेकिन होने वाले लाकडाउन को देखते हुए चिल्हर में मनमानी की गई है।

आलू-प्याज भी बिके 50 रुपये किलो

बुधवार तक जो आलू-प्याज की कीमत 15 से 20 रुपये किलो थी। गुरुवार सुबह से ही बाजारों में इनकी कीमत 40 से 50 रुपये किलो हो गई। आलू-प्याज ज्यादा दिनों तक चलने के कारण लोगों ने इसकी जबरदस्त खरीदारी भी की। बताया जा रहा है कि इनकी आवक में किसी भी प्रकार से कोई कमी नहीं है।

सुपर बाजार व किराना संस्थानों में भी टूट पड़े लोग

सब्जी बाजारों के साथ ही राशन सामग्री की खरीदारी करने उपभोक्ताओं की भीड़ गोलबाजार से लेकर विभिन्ना सुपर बाजारों व किराना संस्थानों में टूट पड़ी। कुछ संस्थानों में तो यह देखा गया कि मैगी, बिस्किट, आटा, मैदा सहित बहुत सी सामग्री का स्टाक खत्म हो गया और कुछ संस्थानों ने तो शाम चार बजे से ही अपने संस्थानों के शटर गिरा दिए।

किराना संस्थानों से लेकर सुपर बाजारों में खरीदारी करने लोगों की लंबी कतारें देखने को मिलीं। बुधवार दोपहर से लेकर गुरुवार देर शाम तक राजधानी के सुपर बाजारों और किराना संस्थानों के कारोबार को देखा जाए तो 10 करोड़ से अधिक का कारोबार हुआ है। शुक्रवार शाम से लाकडाउन लगने के कारण फिर से राशन सामग्री की खरीदारी करने लोगों की भीड़ उमड़ेगी।

बीते साल 19 मार्च को हुआ था एक दिन में आठ करोड़ की खरीदारी

इससे पहले 19 मार्च 2020 के दिन में रायपुर में लाकडाउन लगने के अंदेशे को देखते हुए चारों ओर अफरा-तफरी का माहौल था और सुपर बाजारों के साथ ही विभिन्ना किराना संस्थानों में लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी थी। कारोबारियों का कहना था कि उस एक दिन में ही राजधानी के सुपर बाजार व किराना संस्थानों में करीब आठ करोड़ का कारोबार हुआ था।

इधर, मूल्य नियंत्रण के लिए कलेक्टर ने बनाई कमेटी

लाकडाउन के चलते गुरुवार से ही सब्जियों की कीमतों में लगी आग को देखते हुए जिला प्रशासन चौकस हो गया है। जिला प्रशासन ने लोगों को आवश्यक सामग्री की उपलब्धता सही कीमत पर उपलब्ध कराने के लिए नौ दल बनाया है। इसमें से चार दल नगर निगम रायपुर, एक दल नगर निगम बिरगाव व एक-एक दल सभी तहसीलों में बनाए गए हंै। कलेक्टर डा. एस. भारतीदासन ने बताया कि 1973 की धारा 144 लागू कर संपूर्ण जिले को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। उन्होंने बताया कि गठित की गई टीम आम जनता तक खुदरा कीमत(एमआरपी) के भीतर ही सामग्री की उपलब्धता सुनिश्चित कराएगी। इसके लिए टीम लगातार दौरा भी करेगी।

इन नंबरों पर कर सकते हैं शिकायत

संजय दुबे-8718833724

अरविंद दुबे-9826112064

मदनमोहन साहू-7000724441

वर्जन

10 दिनों के लाकडाउन को देखते हुए उपभोक्ताओं ने जमकर खरीदारी की। इसके चलते बहुत से उत्पादों का स्टाक ही खत्म हो गया।

- गिरीश रेलवानी,संचालक, किशोर सुपर बाजार

कुछ जगहों पर कालाबाजारी की शिकायत आने के बाद जिला प्रशासन की टीम ने कार्रवाई की है। जो भी इस तरह अधिक दाम में बेचेगा उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

- डॉ. एस. भारतीदासन, कलेक्टर, रायपुर

Posted By: Shashank.bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags