रायपुर। पुलिस का काम थाना-चौकी संभालना होता है ताकि कानून-व्‍यवस्‍था न बिगड़ने पाए। खाकी वर्दी को अपनी जिम्‍मेदारी का ऐसा एहसास है कि अब चूल्‍हा-चौका में भी वे पीछे नहीं। भूखे पेट कोई सो न सके, इसलिए पुलिस वालों ने 'खाना चौकी' खोल दी। परिवार के सदस्‍यों के साथ पुलिस कर्मी खुद खाना बनवाते हैं। साफ-सफाई का ख्‍याल रखते हुए पैकिंग कराते। जरूरतमंदों तक भाेजन का पैकेट पहुंचा रहे।

कोरोना संक्रमण काल और लॉकडाउन की वजह से लोगों को भोजन नहीं मिल पा रहा था। इस संकट की घड़ी में पुलिस परिवार सामने आया। टिकरापारा इलाके के गोकुलनगर के श्री प्रयास कंपाउंड में पुलिस परिवार ने 'खाना चौकी' खोली। इसकी खबर लगते ही डीजीपी और डीजी तक इसके सहभागी बन गए। मददगारों का कारवां बढ़ता गया।

अब सांसद सुनील सोनी और सराफा एसोसियशन के पदाधिकारियों का अचानक आगमन हुआ। पुलिस परिवार द्वारा चलाए जा रहे जरूरतमंदों के लिए पुलिस की खाना चौकी की जमकर प्रशंसा की। साथ ही जरूरतमंद बच्चों को पुलिस परिवार द्वारा श्री प्रयास के माध्यम दिए जा रहे निशुल्क शिक्षा की भी तारीफ की।

उन्होंने बच्चों के भवन निर्माण के लिए 10 लाख रुपये सांसद निधि से देने का आश्वासन भी दिया। सराफा एसोसिएशन के महामंत्री जितेंद्र गोलछा ने एसोसिएशन की तरफ से पुलिस खाना चौकी के लिए दस हजार रुपये का अनुदान दिया।

डीजी ने भी किराना सामान कराया उपलब्ध

इससे पहले स्पेशल डीजी आरके विज और डीजी डीएम अवस्थी ने भी पुलिस परिवार को दस-दस हजार का किराना सामान उपलब्ध कराया ताकि पुलिस की खाना चौकी से जरुरतमंदों को नियमित रुप से पका हुआ भोजन मिलता रहे।

Posted By: Azmat Ali

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags