रायपुर। राज्य ब्यूरो। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नीति आयोग की बैठक में राज्य सरकार की गोधन योजना की तारीफ की। प्रधानमंत्री की तारीफ के बाद छत्तीसगढ़ के बयानों के तीर निकलने लगे। कांग्रेस ने जहां गोधन की देशभर में हो रही तारीफ पर भाजपा पर तंज कसा, तो भाजपा भी यह बताने में पीछे नहीं रही कि केंद्र सरकार ने पहले से ही गोबर धन योजना शुरू की है। दिल्ली और हिमाचल प्रदेश के दौरे से लौटे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्वामी विवेकानंद एयरपोर्ट पर सोमवार शाम को गोधन न्याय योजना को लेकर विस्तार से चर्चा की। उन्होंने कहा कि हमारी योजना सफल हो रही है। राष्ट्रीय स्तर पर इसकी चर्चा है। उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश जैसे राज्यों में इसे लागू किया जा रहा है। इसके बाद भी छत्तीसगढ़ भाजपा के नेता दुविधा की स्थिति में है।

इससे पहले राज्य सरकार के प्रवक्ता और मंत्री रविंद्र चौबे ने भी गोधन योजना की तारीफ पर सरकार की पीठ थपथपाई। चौबे ने मीडिया से चर्चा में कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार की योजनाओं की गूंज अब दिल्ली तक सुनाई देने लगी है। प्रधानमंत्री भी बघेल सरकार की योजना के कायल हो गए। चौबे ने कहा कि यह गर्व की बात है और राज्य के लिए बड़ी उपलब्धि है। छत्तीसगढ़ की जनता ने भाजपा को सबक सिखाया है। वहीं, कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि गोधन न्याय योजना को लेकर छत्तीसगढ़ के भाजपा नेता दिग्भ्रमित हैं और पूर्व मुख्यमंत्री डा रमन सिंह अवसाद में हैं। पीएम ने तारीफ करके भाजपा नेताओं को आइना दिखाया है। इससे पशुपालक, चरवाहे, किसान से लेकर स्व सहायता समूह की महिलाओं और सरकार को भी फायदा हो रहा है। इस योजना से न्यूनतम लागत से अधिकतम रोजगार का सृजन हो रहा है।

जमीन पर योजनाओं का नहीं मिल रहा लाभ

कांग्रेस के बयानों पर भाजपा नेताओं ने पलटवार किया है। पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि सरकार की योजनाओं का जमीनी स्तर पर लाभ नहीं मिल रहा है। प्रधानमंत्री आवास योजना का क्या हाल है, वह सबको पता है। भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता ओपी चौधरी ने कहा कि भाजपा ने कभी भी गोधन न्याय योजना को विरोध नहीं किया। मुख्यमंत्री बघेल की योजना के जन्म लेने के बहुत पहले तत्कालीन वित्तमंत्री अरुण जेटली गोबर धन योजना साकार कर गए हैं। केंद्र सरकार गोबर से पेंट बना रही है। उत्तर प्रदेश में गोबर से ईंधन बन रहा है। जबकि छत्तीसगढ़ में भूपेश सरकार गोबर घोटाला कर रही है। सीएम बघेल को उनके नेता राहुल गांधी की बीमारी लग गई है। वह पानी पी-पीकर पीएम मोदी को कोसते रहते हैं और अब उनके नाम पर अपनी पीठ थपथपा रहे हैं।

कांग्रेस सरकार के पास इच्छाशक्ति का आभाव: कौशिक

नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि मुख्यमंत्री बघेल ने नीति आयोग की बैठक में कई मांगें केवल अपनी असफलताओं को छिपाने के लिए रखी हैं। यूपीए सरकार के समय में राज्यों को 32 प्रतिशत राशि मिलती थी, जो मोदी सरकार में बढ़कर 42 प्रतिशत हो गई है। राज्यों के विकास के लिए केंद्र सरकार दलगत भावना से उपर उठकर काम कर रही है। राज्य सरकार प्रदेश में केंद्र सरकार की सभी योजनाओं को लागू करने में नाकाम रही है। प्रधानमंत्री आवास की राशि नहीं देने के कारण 18 लाख गरीबों का आवास नहीं बना। केंद्र सरकार की नल जल योजना का लक्ष्य पूरा नहीं हो रहा है। प्रदेश सरकार 12 लाख घरों तक नल नहीं पहुंचा पाई है। केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी ने एक लाख करोड़ रुपये की राशि छत्तीसगढ़ के विकास के लिए देने की बात कही थी, लेकिन कांग्रेस सरकार अभी तक कोई योजना नहीं बना पाई है।

Posted By: Ashish Kumar Gupta

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close