रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

अंतरराष्ट्रीय आलू केंद्र लीमा (पेरू) छत्तीसगढ़ में आलू और शकरकंद के से पोषण सुरक्षा सुनिश्चित करने में सहयोग करेगा। अंतरराष्ट्रीय आलू केंद्र तथा इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय रायपुर ने संयुक्त रूप से आलू एवं शकरकंद के अनुसंधान, प्रसंस्करण एवं विस्तार पर कार्य करने पर सहमति व्यक्त की है। छत्तीसगढ़ के कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे से राष्ट्रीय किसान मेले में अंतरराष्ट्रीय आलू केंद्र के ग्लोबल लीडर डॉ. सायमन हेक और दक्षिण एशिया के क्षेत्रीय समन्वयक डॉ. उमाशंकर सिंह ने मुलाकात की। उन्होंने छत्तीसगढ़ में इस दिशा में कार्य करने में रुचि जाहिर की। कृषि मंत्री ने अंतरराष्ट्रीय आलू केंद्र के प्रतिनिधि मंडल को एक माह के भीतर कार्ययोजना प्रस्तुत करने को कहा। इस दौरान डॉ. सायमन हेक ने पोषण सुरक्षा के लिए अफ्रीका में संस्था द्वारा किये गए प्रयासों की जानकारी दी। शकरकंद की उच्च आयरन एवं विटामिन ए युक्त नवीन किस्में छत्तीसगढ़ में उपलब्ध कराने पर सहमति दी। प्रतिनिधियों ने गोठानों में लगाने के लिए अधिक चारा प्रदान करने वाली शकरकंद की किस्में प्रदान करने, उसका चारा तैयार करने की तकनीक उपलब्ध कराने पर सहमति व्यक्त की। इस अवसर पर कृषि उत्पादन आयुक्त डॉ. मनिन्दर कौर द्विवेदी एवं इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. एसके पाटील भी मौजूद थे।

Posted By: Nai Dunia News Network