रायपुर। रायपुर से अपहृत उद्योगपति प्रवीण सोमानी के रेस्क्यू मामले में जमकर विवाद शुरू हो गया है। भाजपा प्रदेश प्रवक्ता गौरीशंकर श्रीवास ने सोमानी को मुक्त कराने को लेकर रायपुर पुलिस को फेसबुक पर बधाई देते हुए पुलिस की कहानी पर सवाल खड़े किए थे। उनकी पोस्ट के बाद बखेड़ा शुरू हो गया। पुलिस ने भाजपा नेता को नोटिस जारी कर इस संबंध में दस्तावेज मुहैया कराने के लिए कहा है। अपहृत उद्योगपति प्रवीण सोमानी को 13 वें दिन पुलिस ने उप्र के आंबेडकर नगर और फैजाबाद के बीच कलसी के पास झोपड़ी से 22 जनवरी को बरामद किया था।

यह लिखा फेसबुक पर

भाजपा नेता गौरीशंकर श्रीवास ने 23 जनवरी को अपनी फेसबुक पर दो पोस्ट किए हैं। इनमें से एक पर लिखा है, 4 करोड़ देकर व्यापारी को यूपी से छुड़ाकर लाने पर रायपुर पुलिस को बधाई। वहीं एक अन्य पोस्ट को न्यूज चैनल की क्लिपिंग के साथ पोस्ट किया गया है। इस पोस्ट के वायरल होने के बाद धरसींवा थाना पुलिस की ओर से उन्हें नोटिस भेजा गया है और मय दस्तावेज जवाब देने के लिए कहा गया है।

हाई कोर्ट जाएंगे श्रीवास

पुलिस ने श्रीवास को नोटिस जारी कर 25 जनवरी को जानकारी और दस्तावेज के साथ थाने बुलाया है। नोटिस मिलने के बाद अब भाजपा नेता गौरीशंकर ने हाई कोर्ट जाने की बात कही है। धरसींवा थाना प्रभारी ने भेजे गए नोटिस में कहा है, 'अपहृत प्रवीण सोमानी के प्रकरण में फेसबुक पर आपके द्वारा पोस्ट की गई है कि चार करोड़ देकर व्यापारी को यूपी से छुड़ाकर लाने के लिए रायपुर पुलिस को बधाई सूत्र एवं अपहरण की दास्तान प्रकाश झा की मूवी अपहरण से काफी मिलती-जुलती है।

डील भी बड़ी और बूंदी भी सबने लूटी है। 25 से 04 तक का सफर बड़ा रोचक होगा। जल्द हकीकत सामने आएगी। इस संबंध में जो भी दस्तावेज और जानकारी हो, उसे 25 जनवरी की सुबह 10 बजे तक लेकर थाने में आएं।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket