धमतरी। समर्थन मूल्य में धान खरीदी के लिए उपार्जन केंद्रों में तैयारी लगभग पूरी है। जिलेभर के 89 केंद्रों में खरीदी के लिए 4962 किसानों का टोकन काटा गया है, जिससे 1,24700 क्विंटल धान की खरीदी की जाएगी। पहले दिन अधिकांश केंद्रों में 20 से 25 किसानों का धान डेमो के तौर पर खरीद कर खरीदी की शुरुआत की जाएगी।

एक दिसंबर से जिले के 74 समितियों के 89 उपार्जन केंद्रों में समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी की शुरुआत होगी। खरीदी की तैयारी लगभग सभी उपार्जन केंद्रों में हो गई है।

30 नवंबर को जिला मुख्यालय से लगे उपार्जन केंद्र लोहरसी, आमदी, सौरम समेत सभी केंद्रों में मैदान की साफ सफाई व गोबर से पुताई की गई है। चबूतरा बनकर तैयार है। कांटा बाट खरीदी केंद्रों में पहुंच चुका है। वहीं लोहरसी समेत सभी केंद्रों में बारदाना पहुंच गया है। कंप्यूटर प्रिंटर से काम शुरू हो गया है। शासकीय छुट्टी होने के बाद भी समितियों के अधिकारी कर्मचारी समर्थन मूल्य में धान की खरीदी बेहतर ढंग से शुरू करने तैयारी में देर रात तक जुटे रहे।

वहीं खरीदी केंद्रों के आसपास हम्मालों, मजदूरों और किसानों के चाय-पानी और नाश्ता के लिए होटल भी बनकर तैयार हैं। समर्थन मूल्य में धान बेचने के लिए किसानों में भी काफी उत्साह है। टोकन काटने के बाद अब इंतजार की घड़ी समाप्त हो गई है। मंगलवार की सुबह से धान बेचने जाने के लिए किसान भी तैयारी में जुटे हुए हैं।

तिरपाल व पालीथीन की व्यवस्था पूरी

जिला नोडल अधिकारी प्रहलाद पुरी गोस्वामी ने बताया कि खरीदी के लिए सभी केंद्रों में तैयारी पूरी है। 89 केंद्रों में धान की खरीदी होगी। 1,11032 किसानों का पंजीयन धान बेचने के लिए हुआ। वहीं 1,19525 हेक्टेयर के रकबा का धान किसान बेचेंगे। प्रति एकड़ 15 क्विंटल खरीदी की जाएगी। 31 जनवरी तक किसानों का धान खरीदा जाएगा। मौसम को देखते हुए जिले के सभी उपार्जन केंद्रों में तिरपाल, पालीथीन की व्यवस्था की गई है।

अभी तक कहीं भी सर्वरडाउन की स्थिति नहीं है। सभी जगह स्थिति सामान्य है। जिले में 74 समितियों में कंप्यूटर आपरेटर काम कर रहे हैं। नए समितियों के लिए भी व्यवस्था कर ली गई है। कंप्यूटर आपरेटरों का जिले में कहीं कोई ट्रांसफर नहीं किया गया है। कहीं कोई दिक्कत नहीं है। आज से सामान्य ढंग से समर्थन मूल्य में धान की खरीदी पूजा अर्चना के साथ की जाएगी।

बैनर-पोस्टर नहीं लगा

आज से समर्थन मूल्य में धान की खरीदी शुरू हो रही है, लेकिन अधिकांश उपार्जन केंद्रों में जागरूकता बैनर पोस्टर नहीं लगा है। धान का समर्थन मूल्य के दाम, प्रोत्साहन राशि, प्रति एकड़ क्विंटल की खरीदी, धान की नमी की जानकारी समेत विभिन्न जागरूकता संदेश वाले बैनर पोस्टर केंद्रों में नहीं लगा है।

उपार्जन केंद्र लोहरसी में बनाए चबूतरा पर कोरोना वायरस से बचाव व सुरक्षा के लिए दीवार लेखन किया गया है। इसमें किसानों से मास्क लगाकर आने की अपील की गई है और शारीरिक दूरी बनाने कहा गया है।

Posted By: Shashank.bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस