रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। शहर के ऐतिहासिक गोलबाजार के दुकानदारों को उनकी दुकानों का मालिकाना हक देने की प्रक्रिया नगर निगम प्रशासन ने तेज कर दी है। दावा-आपत्ति के बाद दुकानदारों की संख्या 579 से बढ़कर 600 पहुंच गई है। निगम के अधिकारियों के मुताबिक बाजार विभाग की तरफ से मंगाई गई दावा-आपत्ति के बाद दस्तावेजों तथा मौके की जांच करने पर 21 और दुकानदारों के कब्जे पाए गए हैं। अब सभी काबिज 600 दुकानदारों की सूची तैयार कर ली गई है। सूची को नगर निगम की आगामी सामान्य सभा में मंजूरी के लिए रखा जाएगा। सदन से मंजूरी मिलने पर आगे की प्रक्रिया पूरी की जाएगी।

नगर निगम के अधिकारियों ने बताया कि बाजार विभाग ने शासन की मंशा के अनुरूप गोलबाजार की दुकानों का मालिकाना हक देने के लिए पात्र दुकानदारों की पहली सूची तैयार कर ली है। सूची में 115 दुकानदारों के नाम हैं। इनके दस्तावेजों का परीक्षण, मौके का निरीक्षण समेत अन्य जरूरी परीक्षण पूरा हो गया है।

नामांतरण में दिलचस्पी नहीं दिखा रहे दुकानदार

वर्षों से गोलबाजार में कारोबार कर रहे छोटे, मध्यम दुकानदारों में से 100 से अधिक दुकानदार ऐसे हैं, जिन्होंने नामांतरण की अर्जी नगर निगम में दे रखी है। इसके लिए राजस्व विभाग ने एक महीने का समय भी दिया था। यही नहीं, दुकानदारों को मुख्यालय से इसकी सूचना देकर बुलाया गया, लेकिन निर्धारित अवधि में मात्र 30 दुकानदार रिकार्ड दुरुस्त कराने के लिए पहुंचे थे। 70 से अधिक दुकानदारों ने नामांतरण कराने में दिलचस्पी नहीं दिखाई है। ऐसे हालात में उनके आवेदन लंबित पड़े हुए हैं। साथ ही उनकी दुकानों की रजिस्ट्री की प्रक्रिया प्रभावित हो रही है।

रायपुर नगर निगम के अपर आयुक्त अरविंद शर्मा ने कहा, गोलबाजार की दुकानों का मालिकाना हक देने की प्रक्रिया काफी तेजी से चल रही है। प्रारंभिक सर्वे और दावा-आपत्ति के बाद दुकानदारों की संख्या 21 बढ़ी है। कुल 600 दुकानदारों की सूची तैयार कर ली गई है, जिसे आगामी सामान्य सभा में मंजूरी के लिए रखा जाना है।

Posted By: Ashish Kumar Gupta

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close