रायपुर। राजधानी रायपुर में यातायात में बाधक बने करीब 50 बिजली ट्रांसफार्मरों को हटाने का प्रस्ताव यातायात पुलिस, नगर निगम और स्मार्ट सिटी लिमिटेड से बिजली कंपनी को भेजा गया है। इस प्रस्ताव को कंपनी मुख्यालय भेजकर बजट की मांग की गई है। बिजली ट्रांसफार्मर और खंभों को हटाकर कंपनी अंडर ग्राउंड केबलिंग करेगी। बिजली कंपनी के अधिकारियों ने बताया कि शहर की बिजली व्यवस्था को दुरुस्त करने का काम लगातार किया जा रहा है, इसलिए यातायात में बाधक बन रहे ट्रांसफार्मरों को बदलने, लाइन विस्तार, नई लाइन लगाने और अंडर ग्राउंड केबल बिछाने की योजना है।

यहां होगा काम

बता दें कि कुछ माह पहले नईदुनिया ने अभियान चलाकर ऐसे ट्रांसफार्मरों की ओर बिजली विभाग का ध्यान आकृष्ट कराया था, जिनके कारण जनजीवन प्रभावित होता है। शहर के गुढ़ियारी, खमतराई, उरला इलाके में पुरानी बिजली लाइन बिछी हुई है। इन इलाके की आबादी लगातार बढ़ने से बिजली ट्रांसफार्मरों का लोड बढ़ गया है। लिहाजा बिजली कंपनी ने पहले चरण में गुढ़ियारी, खमतराई और उरला के 50 से ज्यादा ट्रांसफार्मरों को बदलने का फैसला लिया है। यह काम दिसंबर महीने के शुरुआत में ही शुरू कर दिया जाएगा।

यहां अंडरग्राउंड केबलिंग

रायपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड ने शहर को स्मार्ट बनाने के लिए बूढ़ातालाब, कोतवाली के साथ ही भाठागांव बस टर्मिनल को जोड़ने वाली चांदनी चौक से नेहरू चौक सड़क पर अंडरग्राउंड केबलिंग करने बिजली विभाग को पत्र लिखा है। कुछ इलाकों में बिजली कंपनी से स्वीकृति मिलने के बाद काम भी शुरू कर दिया गया है। अंडरग्राउंड केबल बिछाने का काम स्मार्ट सिटी के साथ मिलकर बिजली कंपनी कर रही है।

शहर वृत्त वन के अधीक्षण अभियंता मनोज वर्मा ने कहा, शहर के गुढ़ियारी, खमतराई, उरला इलाके में 50 पुराने बिजली ट्रांसफार्मरों, खंभों को हटाने का काम अगले महीने से शुरू कराया जाएगा। अंडरग्राउंड केबलिंग कर बिजली व्यवस्था को दुरुस्त करेंगे।

Posted By: Ashish Kumar Gupta

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close