रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

रायपुर रेलवे स्टेशन के सभी प्लेटफार्मों पर स्टॉलों से जनता खाना गायब हो गया है। इससे ट्रेन में सफर करने वाले महंगा खाना खरीदने के लिए मजबूर हैं। दरअसल जनता खाना 15 रुपये का होने के कारण बड़ी संख्या में आम यात्री इसे खरीदते हैं, लेकिन यह सुविधा कुछ महीने शुरू होने के बाद अचानक बंद हो गई।

रायपुर रेलवे स्टेशन में 14 से अधिक टी-स्टॉलों में खाने-पीने की सामग्री मिलती है, लेकिन किसी भी स्टॉल में 15 रुपए का जनता खाना नहीं बेचा जा रहा है। जनता खाना में पांच पूड़ी, सूखी सब्जी के साथ अचार देने का नियम है। ऐसे यात्री, जो कैंटीन और फूड स्टॉल में खाना नहीं खरीद सकते, उनके लिए रेलवे ने सस्ता खाना उपलब्ध कराने की योजना शुरू की थी। नियम में सभी कैंटीन, फूड स्टॉल एवं टी-स्टॉल में जनता खाना रखना अनिवार्य है।

जांच में हुआ खुलासा

मुख्य वाणिज्य निरीक्षक एचएन मिश्रा गुरुवार को रायपुर रेलवे स्टेशन के स्टॉलों की जांच करने गए थे। जांच में उन्हें 10 स्टॉलों में एक मात्र स्टॉल में एक पैकेट जनता खाना मिला। इससे पहले भी जनता खाना नहीं मिलने की शिकायत रेलवे के अफसरों से की थी, लेकिन स्टॉल संचालकों पर किसी तरह की कार्रवाई नहीं होने से वे मनमर्जी चला रहे हैं।

ठेकेदार को बचा रहे अफसर

पिछले 20 साल से स्टेशन में सनसाइन कैटरर्स द्वारा स्टॉलों का संचालन किया जा रहा है। पिछले दिनों स्टॉल में बिक रहे थेपले को जांच में अमानक पाया गया था। स्टेशन स्थित कैटरर्स के गोदाम से अवैध पानी की बोतलें भी आरपीएफ की टीम ने जब्त की थीं, लेकिन रेल अफसरों ने ठेकेदार पर कोई कार्रवाई नहीं की। अब जनता खाना स्टॉल से गायब होने के मामले में भी कोई कार्रवाई नहीं होने से रेलवे प्रशासन पर ठेकेदार को बचाने का आरोप लग रहे हैं।

रखना अनिवार्य

रेलवे स्टेशन पर सभी स्टॉल-कैंटीन संचालकों को जनता खाना अनिवार्य रूप से रखना है। इसे लेकर रेलवे ने पूर्व में भी निर्देश जारी किए थे, लेकिन इसका पालन नहीं हो रहा है।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket