Pushya Nakshatra: रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। छत्‍तीसगढ़ के रायपुर माना एयरपोर्ट के समीप निर्माणाधीन भगवान धर्मनाथ जिनालय में प्रतिष्ठापित की जाने वाली मूर्तियां गुरुवार को पड़ रहे पुष्य नक्षत्र के संयोग में जयपुर से लाई जा रही है। प्रतिमाएं दुर्ग पहुंच चुकी है। राजधानी में गुरु पुष्य नक्षत्र में प्रतिमाओं पर फूल बरसाकर मंगल प्रवेश कराया जाएगा।

धर्मनाथ जैन मंदिर प्रतिष्ठा महोत्सव समिति के प्रवक्ता संतोष जैन ने बताया कि जयपुर के मूर्तिकारों ने श्वेत संगमरमर से 15वें तीर्थंकर भगवान धर्मनाथ की मूर्ति बनाई है। एयरपोर्ट के पास जैनम मानस भवन में 9 दिसंबर को प्राण प्रतिष्ठा की जाएगी। श्रीऋषभदेव जैन मंदिर सदर बाजार में सुबह 9 बजे मंगल प्रवेश होगा। भगवान धर्मनाथ की प्रतिमा मंदिर में मूलनायक प्रतिमा के रूप में स्थापित होगी। साथ ही दादा गुरुदेव श्री जिनकुशल सूरी, एवं अन्य देवी देवताओं की प्रतिमाओं को महिलाएं सिर पर कलश रखकर व पुरुष वर्ग चंवर डुलाते हुए बाजे गाजे के साथ नारियल, अक्षत से गवली करते हुए बधाते हुए प्रवेश कराएंगे।

सदरबाजार जैन मंदिर में भक्तगण 7 नवंबर तक दर्शन कर सकेंगे। इसी दिन आमंत्रण पत्रिका के पूजन व लेखन का कार्य होगा। ज्ञान पंचमी के दिन विवेकानंद नगर जैन मंदिर में मूर्तियों को ले जाया जाएगा। 10 नवंबर तक वही रहेंगी। अन्य कालोनियों में स्थित जैन मंदिरों में भी प्रभु का प्रवेश होगा। मूर्तियों की अंजनशलाका एवं प्रतिष्ठा महोत्सव 2 दिसंबर से 9 दिसंबर तक जैनम मानस भवन में होगा।

खरतरगच्छाचार्य जिन पीयूष सागर, साध्वी राजेश श्रीजी, साध्वी मनोरंजना श्रीजी, मुनि महेंद्र सागर की निश्रा में समारोह होगा। मंदिर निर्माण के लाभार्थी जयकुमार बैद व महोत्सव समिति ने प्रदेशभर के जैन समाज से संपर्क करके आमंत्रण सौंपा है।

Posted By: Kadir Khan

NaiDunia Local
NaiDunia Local