रायपुर। राजधानी के होटल सेलिब्रेशन में राष्ट्रीय रेडियो लॉजिस्ट कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया जा रहा है। इसमें राज्य के अलावा हैदराबाद, चंडीगढ़ के रेडियो लॉजिस्ट पहुंचे हैं। इसमें चिकित्सकों ने रेडियोलाजी से जुड़े समस्याओं और समाधान पर चर्चा किए। चिकित्सकों ने इलाज को लेकर बात कही।

उन्होंने कहा कि रेडियोलाजी में शरीर के आंतरिक बीमारियों को पहचाना जाता है। इसमें विभिन्न प्रकार की जांचों के माध्यम से बीमारियों का इलाज किया जाता है। रेडियोलाजिस्ट एक्सरे, सीटी स्कैन, एमआरआइ, अल्ट्रासाउंड जैसी मशीनों से बीमारियों की पहचान कर इलाज को बेहतद सरल और कारगर बनाते हैं।

चिकित्सकों ने बीमारियों का उदाहरण देते हुए बताया कि देखा जाता है पेट दर्द को साधारण मानकर लोग मालिश कर लेते हैं। गोलिया खा लेते हैं। लंबे समय तक दर्द फिर भी बना रहता है। ऐसे में समय पर जांच व इलाज ना मिल पाने से समस्याएं बढ़ जाती है। अन्य शारीरिक बीमारियों में भी यही लागू होता है। हमारे पास जांच की तकनीके बढ़ी, उच्च तकनीक के उपकरणों के माध्यम से इलाज सरल हुआ। लोगों में भी अब इसे लेकर जागरूकता लाने की जरूरत है।

Posted By: Ashish Kumar Gupta

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close