रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। शादी का सीजन और गर्मी की छुट्टी में यात्रियों की समस्या कम नहीं हो रही है। रेलवे विभिन्न रूट की एक्सप्रेस और लोकल समेत करीब तीन दर्जन ट्रेनों को रद कर दिया है। ट्रेन रद होने से यात्रियों की समस्या कम होने के बजाय बढ़ गई हैं।

एक्सप्रेस ट्रेन रद होने से महीनों यात्रा के लिए टिकट बुक कराने वाले यात्री आरक्षण केंद्र पर टिकट वापस कर रहे हैं तो वहीं लोकल ट्रेन रद होने से दुर्ग, भिलाई और राजनांदगांव से आने वाले यात्रियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। क्योंकि इन यात्रियों को अब बस या फिर मोटर साइकिल से सफर करने को मजबूर हैं। लोकल ट्रेन के रद होने से सीधे जनता की जेब पर असर पड़ रहा है।

गौरतलब है कि रायपुर रेलवे स्टेशन से एक दिन में कुल 112 ट्रेनें गुजरती हैं। रायपुर से एक दिन में करीब 50 हजार यात्री सफर करते हैं जिसमें लोकल ट्रेन में छह हजार यात्री सफर करते हैं। एक्सप्रेस ट्रेन के रद होने से मुंबई, हावड़ा, दिल्ली और पंजाब जाने वाली ट्रेनों में जहां भीड़ बढ़ गई है। इस मार्ग पर जाने वाली ट्रेनों में यात्रियों को तत्काल टिकट नहीं मिल पा रहा है।

वहीं दूसरी तरफ राजनांदगांव, दुर्ग और भिलाई से भारी संख्या में सरकारी और प्राइवेट कर्मचारी लोकल ट्रेन में सवार होकर रायपुर आना जाना करते हैं। रायपुर से डोंगरगढ़ का लोकल ट्रेन का टिकट 40 रुपये है यदि रेल यात्री एक्सप्रेस ट्रेन में सवार होकर या फिर बस से सफर करता है तो उसे रायपुर से डोंगरगढ़ तक करीब 100 रुपये चुकाना पड़ेगा। इसके साथ ही यात्री यदि मोटर साइकिल से सफर करते हैं तो तकरीबन 400 सौ रुपये से अधिक का पेट्रोल खर्च हो जाएगा। इसके साथ ही समय भी अधिक लगेगी।

यात्रियों के जेब पर पड़ रहा असर

कोरोना की स्थिति सामान्य होने होने के बाद सरकारी और प्राइवेट दफ्तर नियमित खुल रहे हैं। राजधानी में बिलासपुर, भाटापारा, राजनांदगांव, दुर्ग, भिलाई आदि जगहों से आकर लोग नौकरी करते हैं। लोग ट्रेन में सवार होकर रायपुर स्टेशन आते थे और पार्किंग से मोटर साइकिल लेकर अपने कार्यालय चले जाते थे। लेकिन लोकल ट्रेन बंद होने से लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

ट्रेन रद यात्री हलाकान

रायपुर रेलवे स्टेशन पर रायपुर सहित आस-पास के जिलों से यात्री सफर करते हैं। शादी का सीजन शुरू हो गया है ऐसे में रेलवे ने अचानक 23 यात्री ट्रेनों को रद्द कर दिया था। जनप्रतिनिधियों के दवाब के बाद सात ट्रेनों का परिचालन बहाल किया था, लेकिन बुधवार को रेलवे ने अचानक 17 ट्रेनों को रद कर दिया। ट्रेन के रद होने से यात्री जहां अपने रिश्तेदार की शादी में शामिल नहीं हो पा रहे हैं तो वहीं टिकट रद्द कराने के लिए आरक्षण केंद्र पर धक्का खा रहे हैं। रेलवे के अधिकारी का कहना है कि वर्तमान में ज्यादातर यात्री आनलाइन टिकट लेते हैं उनका खुद ब खुद टिकट रद होकर उनके खाते में पैसा जा रहा है। आरक्षण केंद्र से टिकट कराने वाले आरक्षण केंद्र पर टिकट वापस करने की व्यवस्था की गई है।

इस रूट की ट्रेनों में बढ़ गई भीड़

भुवनेश्वर एलटीटी, पुरी एलटीटी, हटिया एलटीटी, विशाखापटृटनम एलटीटी, बिलासपुर-भगत की कोठी, बिलासपुर-बीकानेर आदि ट्रेनों को रेलवे ने रद कर दिया हैं। इसलिए इस रूट पर चलने वाली दूसरी ट्रेनों में यात्रियों का दवाब बढ़ गया है। वहीं रायपुर से लोकल ट्रेन रद होने से हावड़ा से मुंबई जाने वाली ट्रेनों में अचानक भीड़ बढ़ गई है।

Posted By: Kadir Khan

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close