रायपुर। Raipur News : । रेल हादसा होने पर यात्रियों को किस तरह से सुरक्षित बाहर निकाला जाए इसके लिए बुधवार को सुबह रायपुर रेल मंडल अंतर्गत भिलाई स्थित देवभोग दूध फैक्टरी फाटक के पास डिपार्चर यार्ड में माक ड्रील(अभ्यास) किया गया। माक ड्रील के दौरान सवारी गाड़ी के डिब्बे में बम विस्फोट कर आग लगने की स्थिति को दर्शाते हुए यह बताया गया कि कैसे भीतर फंसे यात्रियों को सुरक्षित निकाला जाए। इसके साथ ही आग को बुझाने के विभिन्न् तरीकों को भी जीवंत रुप में दिखाया गया। रेल डिब्बे में बम विस्फोट होते ही आग लगने पर अफरा-तफरी की स्थिति को देखकर बचाव दल तत्काल हरकत में आया। फिर रस्सी, सीढ़ी के जरिए डिब्बे में फंसे यात्रियों को एक-एक करके सुरक्षित बाहर निकाला गया।

माक ड्रील के दौरान लगाए गए पूछताछ केंद्र, सहायता केंद्र व सभी राहत स्टालों एवं मौजूद साधन संसाधनों का अवलोकन मंडल रेल प्रबंधक श्याम सुंदर गुप्ता ने किय। बचाव कार्य में राष्ट्रीय आपदा मोचन बल कटक, ओडिशा की मुंडाली बटालियन और मंडल के सुरक्षा विभाग की टीम ने संयुक्त रुप से भाग लिया। यहीं नहीं संभावित रेल दुर्घटनाओं को लेकर रेलवे प्रशासन ने अपने अग्रिम पंक्ति के स्टाफ, रेल आपदा प्रबंधन टीम और स्थानीय नागरिकों के साथ मिलकर बचाव कार्य से संबंधित तरीकों को माक ड्रील के जरिए प्रदर्शित किया।

रेलवे के अफसरों ने बताया कि बचाव कार्य से संबंधित तरीकों को अभ्यास के माध्यम से प्रदर्शित करते हुए प्रशिक्षण देने की नियमित परंपरा है। ताकि रेल दुर्घटना के समय किए जाने वाले बचाव कार्य के तौर-तरीकों को अपनाकर कुशलता पूर्वक राहत कार्य किया जा सके। किसी भी आपदा के समय फ्रंट लाइन स्टाफ, रेल आपदा प्रबंधन टीम और स्थानीय नागरिक ही बचाव कार्य में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इस संयुक्त माक ड्रील में एनडीआरएफ के 35, सिविल डिफेंस के 23, स्काउट एवं गाइड के 12 लोग, एआरटी टीम के 25 और रेलवे मेडिकल टीम, अग्निशामक वाहन, एंबुलेंस एवं स्थानीय पुलिस समेत करीब दो सौ लोग शामिल थे। इस दौरान बचाव दल ने कोरोना संबंधित सभी निर्देशों का पालन किया।

आपातकालीन स्थिति में लोगों की सहायता करना हमारा कर्तव्य-डीआरएम

माक ड्रील के बाद डीआरएम श्याम सुंदर गुप्ता ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि वे आपात स्थिति में लोगों की सहायता कर रेल प्रशासन को सहयोग दें। आपातकालीन स्थिति में लोगों की सहायता करना हम सभी का कर्तव्य हैं। इस अभ्यास प्रदर्शन में अपर मंडल रेल रायपुर (परिचालन) लोकेश विश्नोई, वरिष्ठ मंडल संरक्षा अधिकारी रायपुर डॉ. डीएन बिस्वाल, वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी बीएमवाई डॉ बीके टोप्पो, सहायक मंडल संरक्षा अधिकारी आरके देवांगन एवं सिविल डिफेंस के सदस्य, संरक्षा सलाहकार, सुपरवाइजर समेत बिलासपुर जोनल मुख्यालय और रायपुर मंडल के अधिकारी एवं स्थानीय नागरिक उपस्थित थे।

विधायक विकास उपाध्याय ने डीआरएम से की मुलाकात

उधर, विधायक एवं संसदीय सचिव विकास उपाध्याय रायपुर रेलवे स्टेशन में कार्यरत कुलियों के साथ रेलवे डीआरएम से मुलाकात करने पहुंचे। विधायक विकास उपाध्याय ने इस दौरान कहा कि कुलियों के जायज मांगों को लेकर हम यहां पहुंचे हैं। कई वर्षों से काम करने वाले कुलियों उनकी रोजी रोटी में आ रही दिक्कतों को लेकर हमनें आज डीआरएम को ज्ञापन सौंपा है।

विकास उपाध्याय ने कहा कि कोरोना काल में पूरी दुनिया के साथ इन कुलियों के काम पर भी प्रभाव पड़ा है। अब जब इन्हें कुछ काम मिला, तो वो काम भी इनसे छीना जा रहा है। रेलवे द्वारा टेंडर जारी कर काम ठेकेदार को दिया जाने वाले है, जिससे पैकिंग का मैनुअल काम अब मशीन से होने वाला है। इसके लिए हमने ज्ञापन सौंपा है, ताकि इन कुलियों की रोजी रोटी भी चलती रही और रेलवे का काम भी होता रहे।

Posted By: Shashank.bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस